बेंगलूरु कृषि विवि अब डिजिटल: डॉ. शिवण्णा

बेंगलूरु कृषि विवि अब डिजिटल: डॉ. शिवण्णा

Sanjay Kumar Kareer | Updated: 10 Feb 2018, 12:59:56 AM (IST) Bangalore, Karnataka, India

गांधी कृषि विज्ञान केंद्र (जीकेवीके) में बेंगलूरु कृषि विश्वविद्यालय का 52वां दीक्षांत समारोह संपन्‍न हुआ।

बेंगलूरु. बेंगलूरु कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. एच. शिवण्णा ने कहा कि कृषि उपाधि के लिए अब डिजिटल तकनीक उपलब्ध है और स्मार्ट फोन से ही मूल्यांकन भी किया जा सकता है। वे यहां शुक्रवार को गांधी कृषि विज्ञान केंद्र (जीकेवीके) में विश्वविद्यालय के 52वें दीक्षांत समारोह को संबोधित कर रहे थे। कुलाधिपति राज्यपाल वजुभाई वाला ने छात्रों को उपाधियां प्रदान कीं।

उन्होंने कहा कि देश में ही पहली बारविवि ने उपाधि छात्रों की परीक्षा में डिजिटल मूल्यांकन शुरू किया गया है। चालू वर्ष में इसका इस्तेमाल होगा। इसके अलावा अंक सूची और प्रमाणपत्र भी डिजिटल होंगे। इसके जरिए कृषि विवि में छात्रों के प्रवेश से लेकर निर्गमित होने तक संपूर्ण प्रक्रिया डिजिटल होगी।

बीएससी कृषि विपणन, खाद्य प्रसंस्करण, विज्ञान प्रौद्योगिकी, कृषि जीव प्रौद्योगिकी, बी-टेक इंजीनियरिंग में डिजिटल मूल्यांकन की प्रक्रिया का परिचय कराने का फैसला लिया गया है। इससे मूल्यांकन की प्रक्रिया पारदर्शी होगी। छात्र परीक्षा देने के बाद उत्तर पुस्तिकाओं को संबंधित परीक्षा पर्यवेक्षक को देंगे।

मूल्यांकनकर्ता स्मार्ट फोन में भी ओपन कर मूल्यांकन कर सकता है। देश में 65 कृषि विवि हैं। उनमें बेंगलरु कृषि विवि डिजिटल का परिचय करा रही है। छात्रों को अंक सूचियां और प्रमाणपत्र भी डिजिटल रूप में दिए जाएंगे। साल 2019 तक निशुल्क डिजीटल प्रमाणपत्र उपलब्ध होंगे।

इसके बाद शुल्क तय किया जाएगा। विवि में 53 साल के दस्तावेज की सरक्षा के लिए उन्हे भी डिजिटल किया जाएगा। केंद्र सरकार के जैव प्रौद्योगिकी विभाग की पूर्व सचिव मंजू शर्मा ने कृषि जीव प्रौद्योगिकी के सतत विकास एवं अर्थ व्यवस्था के मार्ग में मान कल्याण के ध्येय पर विचार व्यक्त किए।

राज्यपाल ने छात्रों को प्रदान की उपाधियां


इससे पहले राज्यपाल वजुभाई वाला ने 967 छात्रों को स्वर्ण पदक, उपाधियां और प्रमाण पत्र प्रदान किए। दीक्षांत समारोह में 631 छात्रों को स्नातक, 272 को स्नातकोत्तर, 64 को डाक्टोरल, 38स्वर्ण पदक, 3 स्नातक, 5 स्नातकोत्तर उपाधि के कैंपस स्वर्ण पदक और 72 डोनर्स स्वर्ण पदक प्रदान किए गए।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned