बेहतरीन खेल है फुटबाल

बेहतरीन खेल है फुटबाल

Shankar Sharma | Publish: Sep, 16 2018 09:38:04 PM (IST) Bangalore, Karnataka, India

उत्तर पश्चिम कर्नाटक राज्य पथ परिवहन निगम के पूर्व अध्यक्ष सदानंद डंगनवर ने कहा है कि फुटबॉल एक बेहतरीन खेल है।

हुब्बल्ली. उत्तर पश्चिम कर्नाटक राज्य पथ परिवहन निगम के पूर्व अध्यक्ष सदानंद डंगनवर ने कहा है कि फुटबॉल एक बेहतरीन खेल है। डंगनवर, शहर के जगद्गुरु मूरुसाविरमठ विद्यावर्धक संघ के जगद्गुरु गंगाधर पीयू कालेज तथा उपनिदेशक कार्यालय पीयू शिक्षा विभाग धारवाड़ की ओर से केएलई के बीवीबी खेल मैदान में आयोजित हुब्बल्ली शहर तालुक स्तर के अंतर कॉलेज फुटबाल प्रतियोगिता के उद्घाटन समारोह में बोल रहे थे।

उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों को फुटबॉल खेल में भाग लेने के साथ शारीरिक क्षमता बढ़ाकर मानसिक दबाव को कम करना चाहिए। विद्याॢथयों के सर्वांगीण विकास के लिए खेल जरूरी है। फुटबाल में राज्य तथा राष्ट्रस्तरीय प्रतियोगिताओं में भाग लेकर अपने कालेज तथा शहर का नाम रोशन करना चाहिए। साथ ही अपनी प्रतिभा को उभारना चाहिए। नेहरू कॉलेज के शारीरिक शिक्षा निदेशक डॉ. इरशाद मक्कुभाई ने फुटबाल के बारे में जानकारी दी और बतौर फुटबाल खिलाड़ी अपने अनुभवों को साझा किया। प्राचार्य बीएम सालिमठ ने कहा कि खेल को खेल की भावना से खेलना चाहिए।

खेल में हार-जीत जरूरी नहीं है बल्कि भाग लेना जरूरी है। आज के विद्यार्थी मोबाइल फोन का आदि होकर, बुरी लतों का गुलाम बनकर खेल भावना को घटा रहे हैं। सभी खेलों में भाग लेकर स्वास्थ्य को मजबूत करना चाहिए। शारीरिक शिक्षा संयोजक यूएन हजारे ने फुटबाल खेल के इतिहास से विद्यार्थियों को अवगत कराया।

शारीरिक शिक्षक मूर्तिराज हूगार ने कहा कि खेल भावना को विकसित कर खेलों में पहली बार जीत नहीं मिलने पर दुबारा जीत मिलने तक लगातार प्रयास करना चाहिए। इस अवसर पर कालेज के सभी कर्मचारी उपस्थित थे। एमसी हूगार ने कार्यक्रम का संचालन किया।
पुरुषों के विभाग में चेतन पीयू साइंस कालेज विजेता तथा शांतिनिकेतन पीयू कॉलेज रनरअप रही। महिलाओं के विभाग में नेहरू पीयू कालेज विजयी तथा गंगाधर पीयू कॉलेज की टीम रनर अप रही।


संविधान विरोधियों के खिलाफ प्रदर्शन 18 को
हुब्बल्ली. दलित संगठन के नेता पितांब्रप्पा बिलार ने कहा कि दिल्ली के जंतर मंतर पर पिछले माह कई मनुवादियों ने भारत के पवित्र संविधान को सार्वजनिक तौर पर जलाने के साथ ही भारत रत्न से सम्मानित डॉ. भीमराव अम्बेडकर के खिलाफ अपमानजनक नारे लगाए। इसकी सभी दलित संगठन कड़ी निंदा करते हैं। देशद्रोही व संविधान विरोधियों के खिलाफ कार्रवाई करने का आग्रह करते हुए 18 सितम्बर को शहर में प्रदर्शन किया जाएगा।


शहर के पत्रकार भवन में शनिवार को आयोजित संवाददाता सम्मेलन में पितांब्रप्पा बिलार ने कहा कि दिल्ली पुलिस की मंजूरी प्राप्त कर जंतर-मंतर पर सार्वजनिक तौर पर संविधान जलाकर देशद्रोह के नारे लगाने के दृश्यों का वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर संविधान शिल्पी डॉ. अम्बेडकर को अपमानित करना निंदनीय है।


उन्होंने कहा कि मनुवादियों के खिलाफ कार्रवाई का आग्रह कर 18 सितम्बर दोपहर 12 बजे शहर के टाउन हाल से स्टेशन रोड के जरिए अम्बेडकर सर्कल पहुंचकर डॉ. बाबा साहेब अम्बेडकर की मूर्ति पर माल्यार्पण करने के बाद कित्तूर चन्नम्मा सर्कल तक प्रदर्शन रैली निकाली जाएगी। इसके बाद हुब्बल्ली उपनगर थाने में मामला दर्ज करने के बाद राष्ट्रपति के नाम जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपा जाएगा। प्रदर्शन में जिले के विभिन्न गांवों से लोग आएंगे। साथ ही दलित समुदाय के 16 0 जातियों के लोग भाग लेंगे।

Ad Block is Banned