शिक्षा क्षेत्र में तेरापंथ का बड़ा योगदान-डॉ.मुनि आदर्शकुमार

तेरापंथ भवन में आध्यात्मिक मिलन

By: Yogesh Sharma

Updated: 18 Dec 2020, 05:53 PM IST

बेंगलूरु. लिमड़ी अजरामर सम्प्रदाय के डॉ. मुनि आदर्शकुमार का तेरापंथ भवन पदार्पण हुआ। वहां विराजित साध्वी अणिमाश्री एवं साध्वी मंगलप्रज्ञा ने उनका अभिनंदन एवं सुखपृच्छा की। डॉ. मुनि आदर्शकुमार ने चर्चा करते हुए कहा मैंने आचार्य महाप्रज्ञ में समता का उत्कृष्ट रूप देखा है। उनके जीवन व्यवहार में करुणा को अवतरित होते देखा। उनकी प्रभावशाली प्रवचन की धारा में अभीस्नान होने का मुझे एक बार ही अवसर मिला, मगर स्मृतियां आज भी जीवन्त हैं। शिक्षा के क्षेत्र में तेरापंथ का बहुत बड़ा योगदान है। हमारे संघ के कई संत-सतियों ने बी.ए., एम ए, पीएचडी की है। आज कोई भी संप्रदाय का व्यक्ति अगर जैन दर्शन के अध्ययन की बात करता है तो एकमात्र आचार्य तुलसी की देन जैन विश्व भारती संस्थान का ही नाम आता है। पूरा जैन समाज गौरवान्वित है तेरापंथ के प्रति जिसने ऐसा विश्वविद्यालय दिया हो। मुनि ने साध्वी की व्यवहार कुशलता एवं प्रवचन शैली की सराहना करते हुए तप की अनुमोदना की।
साध्वी अणिमाश्री ने कहा मुनि आप और हम सब जिन शासन की प्रभावना में अपने समय का नियोजन कर रहे हैं। आत्मकल्याण के साथ पर कल्याण भी हमारा लक्ष्य है। हमने सुना आप सबने सुघड़ चिंतन के द्वारा श्रावक समाज की नई दिशा प्रदान कर रहे हैं। आध्यात्मिक सम्प्रोषण प्रदान कर रहे है। उपधान अनुष्ठान के द्वारा तप की ज्योत प्रज्ज्वलित कर रहे हैं। साध्वी ने मुनि को बताया कि आचार्य महाश्रमण रायपुर (छत्तीसगढ़) की ओर विहाररत हंै। भावना नैतिकता एवं नशा मुक्ति का संदेश प्रदान कर रहे हैं। लाखों लोग अहिंसा यात्रा के साक्षी एवं संभागी बन कर जीवन पथ को अध्यात्म के आलोक से आलोकित किया है। साध्वी मंगलप्रज्ञा ने कहा हम सब की जड़ एक है, वह है जिनशासन। आचार्य तुलसी ने जिनशासन की अपने अवदानों के द्वारा अतिशय प्रभावना है। आचार्य तुलसी के अवदानों की लंबी शृंखला है। उनमें एक है जैन विश्व भारती विश्वविद्यालय, यह पूरे जैन समाज के लिए गौरव का विषय है। जैन विश्व भारती संस्थान से जैन समाज ही नहीं जैनेतर समाज भी लाभान्वित हो रहा है। साध्वी कर्णिकाश्री, साध्वी सुदर्शनप्रभा, साध्वी सुधाप्रभा, साध्वी समत्वयशा, साध्वी मैत्रीप्रभा, साध्वी राजुलप्रभा, साध्वी चैतन्यप्रभा ने भी विचारों की अभिव्यक्ति दी। इस अवसर पर राजेश खटेड़, गीतिका सेठिया, कैलाश गोयल, राज गोयल, अल्का खटेड़, भीखीदेवी सेठिया, कन्हैयालाल पुगालिया, चेतन अजमेरा इस दृश्य को देख प्रसन्न हो गए।

Yogesh Sharma Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned