अरबों का घोटाला, कंपनी के सात निदेशक पुलिस की गिरफ्त में

अरबों का घोटाला, कंपनी के सात निदेशक पुलिस की गिरफ्त में

Santosh Kumar Pandey | Updated: 12 Jun 2019, 07:44:34 PM (IST) Bangalore, Bangalore, Karnataka, India

अरबों रुपए के आइएमए धोखाधड़ी मामले में बुधवार को पुलिस ने कंपनी के 7 डायरेक्टर्स को हिरासत में ले लिया। कंपनी के फरार एमडी मोहम्मद मंसूर खान के बारे में उनसे पूछताछ की जा रही है।

आइएमए धोखाधड़ी मामला

प्रवर्तन निदेशालय भी करेगा मामले की जांच
बेंगलूरु. अरबों रुपए के आइएमए धोखाधड़ी मामले में बुधवार को पुलिस ने कंपनी के 7 डायरेक्टर्स को हिरासत में ले लिया। कंपनी के फरार एमडी मोहम्मद मंसूर खान के बारे में उनसे पूछताछ की जा रही है।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बेंगलूरु पूर्व पुलिस ने बुधवार को कार्रवाईकरते हुए आइएमए के सात निदेशकों को हिरासत में ले लिया। इनके नाम निजामुद्दीन, निसार, नवीद, अर्शद खान, अंसार, वसीम और दादा पीर बताए गए हैं। पुलिस अब उनसे इस संबंध में कड़ाईसे पूछताछ कर रही है। पुलिस खासतौर से कंपनी के एमडी मंसूर खान के बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहती है ताकि उसके खिलाफ मुकदमा चला कर निवेशकों का डूबा हुआ पैसा वसूला जा सके।
इस बीच, बुधवार को तीसरे दिन भी शिकायतों का सिलसिला जारी रहा। पुलिस उपायुक्त (पूर्व) राहुल कुमार ने करीब १६ हजार मामले दर्ज किए जा चुके हैं।

पुलिस का कहना है कि यह संख्या अभी और बढ़ेगी क्योंकि जैसे जैसे मामले की जानकरी लोगों को मिल रही है, वे दूसरे राज्यों और यहां तक कि दूसरे देशों से भी यहां आ रहे हैं।

उधर, खबर है कि प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) भी मामले की जांच करेगा क्योंकि कंपनी ने कर्नाटक ही नहीं केरल, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और महाराष्ट्र में अपनी गतिविधियां चला रखी थीं और वहां से भी बड़ी संख्या में शिकायतें पुलिस को मिल रही हैं। इन राज्यों के कई नागरिकों ने भी निवेश किया था। एसआइटी केवल प्रदेश में ही जांच कर सकती है इसलिए ईडी स्वयं संज्ञान लेकर मामला दर्ज करने के बाद इसकी जांच करेगा।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned