भाजपा डीके शिवकुमार को नहीं तोड़ सकती: सिद्धरामय्या

मुख्यमंत्री सिद्धरामय्या ने कहा कि ऊर्जा मंत्री डीके शिवकुमार के ठिकानों पर आयकर विभाग के छापे डलवाकर भाजपा ने उन्हें तोडऩे की साजिश रची

By: शंकर शर्मा

Published: 10 Nov 2017, 10:26 PM IST

बेंगलूरु. मुख्यमंत्री सिद्धरामय्या ने कहा कि ऊर्जा मंत्री डीके शिवकुमार के ठिकानों पर आयकर विभाग के छापे डलवाकर भाजपा ने उन्हें तोडऩे की साजिश रची लेकिन उसके इरादों को सफलता नहीं मिलेगी। मुख्यमंत्री ने गुरुवार को बागलकोट जाने से पहले हुब्बली हवाई अड्डे पर कहा कि आईटी अधिकारियों के माध्यम से मंत्री डीके शिवकुमार पर दबाव डालकर तोडऩे का हरसंभव प्रयास किया गया लेकिन यह साजिश सफल नहीं हुई।

शिवकुमार जन्मजात कांग्रेसी हैं और वे भाजपा की साजिश के आगे झुकने वाले नहीं हैं। टीपू जयंती को लेकर पूछे सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री रहते येड्डियूरप्पा व जगदीश शेट्टर ने टीपू की टोपी पहनकर टीपू जयंती में भाग लिया और फोटो खिंचवाए और आज टीपू जयंती मनाने की निंदा कर रहे हैं। सत्ता में रहते भाजपा की जुबान अलग थी।


उस समय टीपू की तारीफ करने वाले अब निंदा कर रहे हैं, यह कैसी नैतिकता है। उन्होंने कहा कि टीपू जयंती के आमंत्रण पत्रों से भाजपा नेताओं के नाम हटाने के निर्देश दे दिए हैं। उन्होंने कहा कि लिंगायत पृथक धर्म के बारे में सिफारिश करने का अभी उन्होंने निर्णय नहीं किया है।

सरकार के पास केवल सिफारिश करने का ही अधिकार है और अब हम सिफारिश करने के नतीजे पर नहीं पहुंचे हैं। लिंगायतों को अल्पसंख्यकों का आरक्षण देने के बारे में पिछड़ा वर्ग आयोग विचार कर सिफारिश करेगा। लिंगायत पृथक धर्म के विवाद में वे नहीं पडऩा चाहते। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा साल भर पहले लागू की गई नोटबंदी से देश को कोई फायदा नहीं हुआ है। केन्द्र सरकार की यह योजना पूरी तरह से विफल रही है। जाली नोटों का कारोबार, आंतकवादियों की धन की आपूर्ति, कालेधन व भष्टाचार पर कोई रोक नहीं लगी है।

शिवकुमार को भाजपा में लाने का कभी प्रयास नहीं किया: येड्डियूरप्पा
डीके शिवकुमार को भाजपा में शामिल कराने के लिए छापों के जरिये दबाव डालने संबंधी मुख्यमंत्री सिद्धरामय्या के बयान पर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बीएस येड्डियूरप्पा ने कहा कि यह तो कांग्रेस की राजनीतिक रणनीति का हिस्सा है।
भाजपा कोर कमेटी की बैठक से पहले उन्होंने कहा कि भाजपा की परिवर्तन यात्रा की सफलता से कांग्रेस भौंचक है और लोगों के दिमाग में असमंजस पैदा करने के लिए जानबूझकर ऐसी झूठी अफवाहें फैलाई जा रही हैं। शुक्रवार को टीपू जयंती के बारे में पूछने पर येड्डियूरप्पा ने कहा कि पार्टी इस कार्यक्रम का विरोध करती है। टीपू जयंती मनाना हिटलर की जयंती मनाने जैसा है।


केंद्रीय मंत्री सदानंद गौड़ा ने शिवकुमार को भाजपा में शामिल होने का ऑफर देने के बारे में कहा कि भाजपा की विचारधारा व सिद्धांत में यकीन रखकर आने वाले सभी नेताओं का स्वागत करती है लेकिन राजनीतिक कारणों से वह सीबीआई, आयकर, ईडी का इस्तेमाल कर लोगों को धमकाने के स्तर पर कभी गिर नहीं सकती।


मुख्यमंत्री सिद्धरामय्या एक कार्यक्रम में बोले थे कि छापों के दौरान आयकर अधिकारियों ने शिवकुमार को भाजपा में जाने को कहा था।

शंकर शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned