भाजपा के CM येडियूरप्‍पा को पूर्व विधायक की धमकी, कहा-टिकट नहीं मिली तो चुटकी में गिरवा दूंगा सरकार

भाजपा के CM येडियूरप्‍पा को पूर्व विधायक की धमकी, कहा-टिकट नहीं मिली तो चुटकी में गिरवा दूंगा सरकार
भाजपा के CM येडियूरप्‍पा को पूर्व विधायक की धमकी, कहा-टिकट नहीं मिली तो चुटकी में गिरवा दूंगा सरकार

Ram Naresh Gautam | Publish: Oct, 09 2019 03:55:15 PM (IST) Bangalore, Bangalore, Karnataka, India

  • विधायक (MLA) ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि अयोग्य विधायकों के कारण ही येड्डियूरप्पा (BS Yediyurappa) ने सरकार बनाई है...

बेंगलूरु. कर्नाटक (Karnataka) में होसकोटे (Hosakote) विधानसभा क्षेत्र के अयोग्य विधायक एमटीबी नागराज (MTB Nagraj) ने चेतवनी दी है कि अगर उन्हें टिकट नहीं मिला तो बीएस येड्डियूरप्पा (BS Yediyurappa) सरकार भी नहीं ज्यादा दिन नहीं टिकेगी।

उन्होंंने मंगलवार को संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि अयोग्य विधायकों के कारण ही येड्डियूरप्पा ने सरकार बनाई है। सरकार बनने के बाद भाजपा इन नेताओं की अनदेखी कर रही है।

येड्डियूरप्पा और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष नलिन कुमार कटील (Nalin Kumar Kateel) ने अयोग्य विधायकों को विश्वास में लेने का वादा किया है, ऐसे में लगता है कि टिकट मिलेगा।

नागराज ने कहा कि होसकाटे में सांसद बीएन बच्चे गौड़ा के पुत्र शरत गौड़ा ने टिकट की मांग की है और जनसंपर्क भी करने लगा है।

यह सब एक षड्यंत्र के तहत हो रहा है। भाजपा को शीघ्र घोषणा करनी होगी कि उन्हें ही होसकोटे से टिकट मिलेगा। बच्चे गौड़ा ने उनके (नागराज) समर्थन में प्रचार करने से इनकार किया है।

mtb_nagraj.jpg

बीएल संतोष से की मुलाकात
नागराज ने बताया कि इन हालात को देखते हुए उन्होंने और अन्य अयोग्य विधायकों ने भाजपा के राष्ट्रीय महासिचव (संगठन) बीएल संतोष से मुलाकात की है।

संतोष भाजपा में अधिक रसूख रखने वाले नेता हैं। उन्हें विश्वास है कि संतोष के कारण टिकट मिलेगा।

अगर किसी तरह का धोखा हुआ तो येडियूरप्पा की सरकार गिरने के साथ ही प्रदेश में मध्यावधि चुनाव को कोई रोक नहीं सकता।

कांग्रेस व जद-एस विधायकों के त्याग ने बनाया येडियूरप्पा को सीएम : विश्वनाथ
उधर, मैसूरु में एक और अयोग्य ठहराए गए जनता दल-एस के विधायक एएच विश्वनाथ ने कहा कि उनकी पुरानी पार्टी सहित कांग्रेस के 17 विधायकों के त्याग के कारण बीएस येडियूरप्पा मुख्यमंत्री बने हैं।

इन सभी विधायकों ने यडियूरप्पा पर भरोसा कर अपना राजनीतिक भविष्य दांव पर लगाया है। इनके साथ न्याय करना भाजपा का दायित्व है।

यहां मंगलवार को उन्होंने कहा कि हुणसूर विधानसभा क्षेत्र के उप चुनाव में वे या उनके परिवार का कोई सदस्य चुनाव लड़ेगा। मुख्यमंत्री येडियूरप्पा के साथ मुलाकात के दौरान उन्होंने राजनीति को लेकर कोई बातचीत नहीं की है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned