भाजपा ऐसा माहौल बना देती है कि लोग विकास के बारे मेंं नहीं सोचते

  • मोदी ने चुनाव के समय दो करोड़ रोजगार देने का वादा किया था लेकिन दो लाख रोजगार के अवसर भी सृजित नहीं हुए। रोजगार बढ़ने के बजाय मंदी के कारण घटता जा रहा है।

By: Ram Naresh Gautam

Updated: 12 Nov 2019, 04:42 PM IST

बेंगलूरु. केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ कांग्रेस ने सोमवार को यहां टाउन हॉल पर एकत्रित होकर विशाल धरना प्रदर्शन किया। धरन में कांग्रेस के सभी प्रमुख नेता और बड़ी संख्या में कार्यकर्ता मौजूद थे।

कार्यकताओं को संबोधित करते हुए सिद्धरामय्या ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने युवाओं को धोखा दिया। युवाओं ने सोशल मीडिया से लेकर हर जगह मोदी का साथ दिया।

मोदी ने चुनाव के समय दो करोड़ रोजगार देने का वादा किया था लेकिन दो लाख रोजगार के अवसर भी सृजित नहीं हुए। रोजगार बढऩे के बजाय मंदी के कारण घटता जा रहा है।

मनमोहन के समय 8-9 फीसदी थी आर्थिक विकास दर

उन्होंने कहा कि आज देश एक अप्रत्याशित आर्थिक दुर्दशा का सामना कर रहा है। मोदी पांच साल का कार्यकाल पूरा कर चुके हैं। मोदी सरकार का छठे वर्ष में है लेकिन देश विकास में पिछड़ता जा रहा है। मनमोहन सिंह सरकार के समय आर्थिक विकास 8-9 फीसदी थी।
सिद्धरामय्या ने कहा कि केंद्र सरकार के आंकड़ों के मुताबिक ही पिछले साल में यह दर घटकर 5 फीसदी तक आ चुकी है।

सिद्धरामय्या ने आर्थिक मंदी को लेकर भी मोदी पर निशाना साधा। सिद्धरामय्या ने कहा कि एक तरफ मंदी है और दूसरी तरफ बेरोजगारी दर बढ़कर 8.5 फीसदी तक पहुंच चुकी है। नोटबंदी को लेकर भी सिद्धरामय्या ने मोदी पर निशाना साध।

उन्होंने कहा कि मोदी ने नकली नोटों को रोकने और भ्रष्टाचार खत्म करने के लिए नया नोट जारी करने की बात कही थी लेकिन तीन साल बाद भी न तो कालाधन वापस आया और ना ही भ्रष्टाचार थमा।

उन्होंने कहा कि नोटबंदी के समय जो लोग मरे वे गरीब थे, अमीर नहीं। मंदी का असर भी गरीबों पर ही पड़ रहा है। कंपनियां बंद हो रही हैं, उत्पादन घट रहा है। किसान भी बेहाल हैं।

सिद्धरामय्या ने कहा कि मोदी अच्‍छे दिन का वादा कर आए थे लेकिन जब से उनकी सरकार बनी है लोग सिर्फ परेशान हो रहे हैं।

जनता के आशीर्वाद से सत्‍ता में नहीं आए येडियूरप्‍पा

सिद्धरामय्या ने मुख्यमंत्री बीएस येडियूरप्पा पर निशाना साधते हुए कहा कि वे जनता के आशीर्वाद से सत्ता में नहीं आए हैं।

कांग्रेस के 14 विधायकों को तोड़कर भाजपा पिछले दरवाजे से सत्ता में आई है। ऑपरेशन कमल के कारण विपक्ष के 17 विधायकों ने इस्तीफा दिया। आज इन क्षेत्रों में उपचुनाव कराने पड़ रहे हैं।

सिद्धरामय्या ने इसके लिए येडियूरप्पा को जिम्मेदार ठहराया। रामलिंगा रेड्डी ने कहा कि केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण को जमीनी हालात को पता नहीं है और इसी कारण आज अर्थव्यवस्था की हालत खराब है।

रेड्डी ने कहा कि मोदी संकट में घिरे किसानों की मदद के लिए आगे नहीं आए। केंद्र सरकार कर्नाटक के साथ सौतेला व्यवहार कर रही है।

वीएस उग्रप्पा ने कहा कि मोदी से सिर्फ खोखले वादे करते हैं। सिद्धरामय्या सरकार ने कई कल्याणकारी योजनाओं को लागू किया लेकिन भाजपा लोगों के लिए काम नहीं करती है।

भाजपा ऐसा माहौल बना देती है कि लोग विकास के बारे मेंं नहीं सोचते

भाजपा पुलवामा हमले और रामजन्म भूमि जैसे भावानात्मक मसलों का राजनीतिकरण करती है। भाजपा ऐसा माहौल बना देती है कि लोग विकास के बारे मेंं नहीं सोचते हैं।

प्रदेश महिला कांग्रेस अध्यक्ष पुष्पा अमरनाथ ने कहा कि एक तरफ केंद्र सरकार बेटी बचाओ का नारा दे रही है, दूसरी तरफ महिलाओं को मिल रही सुविधाओं में कटौती कर रही है।
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष दिनेश गुंडूराव और कार्याध्यक्ष ईश्वर खंड्रे ने भी केंद्र सरकार पर गलत आर्थिक नीतियों के लिए कड़े प्रहार किये।
विधान परिषद के नेता प्रतिपक्ष एसआर पाटिल, पूर्व मंत्री केजे जार्ज, पूर्व मंत्री उमाश्री, वीके हरिप्रसाद, प्रकाश राठौर, रानी सतीश, आर. ध्रुवनारायण, वीआर सुदर्शन सहित पार्टी के कई वरिष्ठ नेता और कार्यकर्ताओं ने धरने में भाग लिया।

BJP Narendra Modi Prime Minister Narendra Modi
Show More
Ram Naresh Gautam
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned