नाराज विधायकों के कारण मुसीबत में पड़ सकती है भाजपा सरकार

नाराज विधायकों के कारण मुसीबत में पड़ सकती है भाजपा सरकार
बीएस येडियूरप्पा

Santosh Kumar Pandey | Updated: 23 Sep 2019, 04:11:35 PM (IST) Bangalore, Bangalore, Karnataka, India

Karnataka by-poll: Yediyurappas government will depend on bypolls, yediyurappa is facing the same challenge of dissatisfaction that the coalition government had to face earlier

बेंगलूरु. मुख्यमंत्री बीएस येडियूरप्पा को अपनी सरकार स्थिर रखने के लिए असंतोष की उसी चुनौती का सामना करना पड़ रहा है, जो इससे पहले गठबंधन सरकार को करना पड़ा था। मंत्री पद की आस लगाए पूर्व विधायकों की बढ़ती नाराजगी का सिलसिला बरकरार है।

सूत्रों के अनुसार आर शंकर और एसटी सोमशेखर ने दिल्ली में डेरा जमा रखा है। येडियूरप्पा के साथ दिल्ली गए गृहमंत्री बसवराज बोम्मई, उपमुख्यमंत्री लक्ष्मण सवदी आदि ने दोनों विधायकों से मुलाकात की। इस दौरान कुछ अन्य नाराज विधायकों के वहां मौजूद रहने की बात भी कही जा रही है।

बोम्मई ने नाराज विधायकों को येडियूरप्पा व अमित शाह की मुलाकात के बारे में जानकारी देने के साथ भरोसा दिलाया कि संकट की इस घड़ी में भाजपा पूरी तरह से उनके साथ है।

उपचुनाव पर सरकार का भविष्य
१५ सीटों पर उपचुनाव भाजपा सरकार की स्थिरता के लिए महत्वपूर्ण है। इस समय 207 सदस्यीय विधानसभा में स्पीकर को छोडक़र भाजपा के सदस्यों की संख्या 104 है लेकिन 224 सदस्यीय पूर्ण सदन में बहुमत हासिल करने के लिए भाजपा को उपचुनाव के दौरान कम से कम 10 सीटें जीतना अनिवार्य है। ऐसे में अगर अयोग्य ठहराए गए विधायकों को कोर्ट से चुनाव लडऩे की अनुमति नहीं मिलती है और भाजपा भी उनकी मांगों को नहीं मानेगी तो ये विधायक चुनाव में भाजपा के लिए मुसीबत पैदा कर सकते हैं।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned