भाजपा आलाकमान के संदेश के बार असंतुष्टों के तेवर ठंडे

विषम स्थिति में राज्य सरकार का साथ देने का स्पष्ट संदेश

By: Sanjay Kulkarni

Published: 30 May 2020, 11:55 PM IST

बेंगलूरु. भाजपा आलाकमान के कड़े संदेश के बाद भाजपा के असंतुष्ट विधायकों के तेवर ठंडे पड़ते नजर आ रहे हैं। मुख्यमंत्री बीएस यडियूरप्पा को केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के मिले समर्थन के बाद असंतुष्ट विधायकों के सुर भी बदल गए हैं। असंतुष्ट विधायकों ने अब कहना शुरू कर दिया है कि पार्टी में कोई असंतोष नहीं है।भाजपा आलाकमान ने पार्टी के सभी विधायकों को कोरोना वायरस के संक्रमण की विषम स्थिति में राज्य सरकार का साथ देने का स्पष्ट संदेश दिया है। साथ ही मुख्यमंत्री को ऐसी गतिविधियों की परवाह नहीं करते हुए अपना दायित्व निभाने के निर्देश दिए गए हंैं।

आलाकमान के खुले समर्थन के बाद मुख्यमंत्री बीएस यडियूरप्पा की स्थिति मजबूत हो गई है।आलाकमान के कड़े तेवरों के कारण असंतुष्टों की हालत क्या हो गई है, इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि हाल ही में उत्तर कर्नाटक जिलों के भाजपा विधायकों की बैठकों का आयोजन हुआ, तो उसे भी महज एक डिनर इवेंट बता कर कहा गया कि इसमें कोई राजनीतिक वार्ता नहीं हुईं।तमाम विरोध के बीच मुख्यमंत्री ने बीएल संतोष को अपना राजनीतिक सचिव नियुक्त करने का फैसला किया है।

पार्टी के आलाकमान ने कांग्रेस तथा जनता दल एस से भाजपा में शामिल होकर मंत्री बन चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ सुधाकर, शहरी विकास मंत्री भैरती बसवराज, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री गोपालय्या, कृषि मंत्री बीसी पाटिल, जलसंसाधन मंत्रीा रमेश जारकीहोली, बागवानी मंत्री नारायण गौडा,श्रम मंत्री शिवराम हेब्बार, सहकारिता मंत्री एसटी सोमशेखर समेत विभिन्न मंत्रियों की कार्यशैली पर संतोष व्यक्त किया है।

पार्षद इमरान पाशा पर बरसे राजस्व मंत्री

बेंगलूरु. राजस्व मंत्री आर अशोक ने पादरायनपुरा वार्ड के जनता दल एस को पार्षद इमरान पाशा के खिलाफ नाराजगी जताई है। उन्होंने कहा कि स्थानीय पार्षद ने कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के प्रयासों में सहयोग नहीं दिया है।उन्होंने कहा कि पार्षद की लापरवाही के कारण ही पादरायनपुरा कोरोना वायरस का हॉटस्पॉट बना है। अब स्वयं इमरान पाशा कोरोना वायरस से संक्रमित हुए है। एक जनप्रतिनिधि होने के बावजूद इमरान पाशा ने अपना दायित्व जिम्मेदारी से नहीं निभाया है।स्थानीय लोगों को इस बीमारी की सही जानकारी देने के बदले लोगों को भडकाने के कारण से ही पादरायनपुरा क्षेत्र को सीलडाउन करने की नौबत आ गई इसके लिए इमरान पाशा की गैर जिम्मेदाराना बरताव ही प्रमुख कारण है।

Sanjay Kulkarni Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned