आरोपियों को पकडऩे में पुलिस विफल, सीबीआई को जांच सौंपे राज्य सरकार

Shankar Sharma

Publish: Sep, 12 2017 10:02:00 (IST)

Bangalore, Karnataka, India
आरोपियों को पकडऩे में पुलिस विफल, सीबीआई को जांच सौंपे राज्य सरकार

भाजपा की प्रदेश महासचिव शोभा करंदलाजे ने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि सरकार प्रो.एम.एम. कलबुर्गी तथा पत्रकार गौरी लंकेश के हत्यारों

बेंगलूरु. भाजपा की प्रदेश महासचिव शोभा करंदलाजे ने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि सरकार प्रो.एम.एम. कलबुर्गी तथा पत्रकार गौरी लंकेश के हत्यारों को पकडऩे में सक्षम नहीं है तो उसे सीबीआई को जांच सौंप देनी चाहिए। आरोपियों की तत्काल गिरफ्तारी के लिए बुद्धिजीवी सरकार पर दबाव डालें।

शोभा सोमवार को यहां डीएसपी गणपति प्रकरण में मंत्री केजे जार्ज के इस्तीफे की मांग को लेकर भाजपा महिला मोर्चा के धरने के बाद मीडिया से बात कर रहीं थी। उन्होंने आरोप लगाया कि सीआईडी जांच पक्षपात पूर्ण तरीके से करवाकर सरकार ने मंत्री को क्लीनचिट दिलवाई।

उन्होंने कहा कि जार्ज के इस्तीफे की मांग को लेकर हमारा यह सांकेतिक आंदोलन है। जार्ज ने त्यागपत्र नहीं दिया तो उनके खिलाफ राज्यव्यापी प्रदर्शन किया जाएगा। इससे पहले धरने को संबोधित करते हुए शोभा ने कहा कि कांग्रेस सरकार के शासनकाल में ईमानदार अधिकारियों की कोई कद्र नहीं है। सरकार के उपेक्षित रवैये से तंग आकर कई उच्च अधिकारियों ने खुदकुशी की हैं। चुनाव करीब आने पर राज्य सरकार विकास कार्यक्रमों का शिलान्यास कर लोगों का ध्यान बंटाने की कोशिश कर रही है।


भारी बारिश के कारण शहर के अनेक इलाके जलमग्र हो गए लेकिन मंत्री जार्ज व बीबीएमपी ने लोगों को राहत देने के कोई कदम नहीं उठाए। भारी बारिश के कारण नागरिक कठिनाइयों का सामना कर रहे हैं और लोगों को अपनी संपत्तियां खोनी पड़ी हैं।

धरने में पूर्व उप मुख्यमंत्री आर अशोक, महिला मोर्चा की अध्यक्ष विजय लक्ष्मी आनंद तथा शारदा नायक सहित अन्य ने भी भाग लिया।

एसआईटी का पुनर्गठन
बेंगलूरु. गौरी लंकेश हत्याकांड की जांच में तेजी लाने के उद्देश्य से ४० अन्य पुलिस कर्मचारियों को दल में शामिल किया गया है। पहले जांच ेके लिए गुप्तचर विभाग के पुलिस महा निरीक्षक बी.के.सिंह के नेतृत्व में २१ पुलिसकर्मियों को लेकर विशेष जांच दल (एसआईटी) गठित किया गया था। अब इसमें तीन पुलिस उपाधीक्षक, सात पुलिस निरीक्षक, समेत कुल ४० लोगों को शामिल किया गया है। कई पुलिसकर्मी जांच के लिए महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश के साथ ही प्रदेश के कई अन्य शहरों में भेजे गए हैं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned