विधान परिषद के सभापति पद पर भाजपा की नजर

विधान परिषद के 16 से अधिक सदस्यों का कार्यकाल जून माह में पूरा होने के पश्चात पार्टीवार सदस्यों की संख्या के समीकरण बदलने की संभावना है। इस स्थिति का लाभ उठाते हुए भाजपा अब सभापति पद पर दावा करने की तैयारी कर रही है। साथ में विधानसभा में भाजपा को स्पष्ट बहुमत होने के कारण विधानसभा के उपाध्यक्ष पद पर भी भाजपा दावा कर सकती है।

बेंगलूरु. विधान परिषद के 16 से अधिक सदस्यों का कार्यकाल जून माह में पूरा होने के पश्चात पार्टीवार सदस्यों की संख्या के समीकरण बदलने की संभावना है। इस स्थिति का लाभ उठाते हुए भाजपा अब सभापति पद पर दावा करने की तैयारी कर रही है। साथ में विधानसभा में भाजपा को स्पष्ट बहुमत होने के कारण विधानसभा के उपाध्यक्ष पद पर भी भाजपा दावा कर सकती है।
दोनों सदनों में लाना होगा अविश्वास प्रस्ताव
बताया जा रहा है कि जनता दल-एस के सदस्य धर्मेगौड़ा को सदन के उपसभापति पद पर बरकरार रखते हुए जद-एस तथा निर्दलीय सदस्यों के के समर्थन के बूते पर भाजपा सभापति पद पर दावा करेगी। इससे पहले भाजपा को मौजूदा सभापति के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाना होगा। इसी तर्ज पर विधानसभा में स्पष्ट बहुमत होने से भाजपा विधानसभा के उपाध्यक्ष पद पर भी दावा कर सकती है। इसके लिए विधानसभा के मौजूदा उपाध्यक्ष कृष्णा रेड्डी के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पारित करवाना होगा।
श्रीनिवास पुजारी पर पार्टी चिंतन-मंथन
विधान परिषद में भाजपा के वरिष्ठ नेता व मंत्री कोटा श्रीनिवास पुजारी को सभापति बनाए जाने पर पार्टी में चिंतन-मंथन चल रहा है। विधानसभा का उपाध्यक्ष पद मंत्री पद की लॉबिंग कर रहे किसी सदस्य को सौंपा जा सकता है। अभी 75 सदस्यों वाली विधान परिषद में कांग्रेस के 37 भाजपा के 18 जनता दल-एस के 16 और दो निर्दलीय, एक सभापति तथा एक स्थान रिक्त है।
जद-एस सदस्यों को साधने की कोशिश
30 जून को विधान परिषद में समीकरण बदलेंगे। कांग्रेस तथा जद-एस के 7 सदस्यों का कार्यकाल पूरा हो रहा है। इनमें से 4 पदों पर भाजपा के सदस्यों का चयन होने की संभावना है। इससे पहले 22 जून को 5 मनोनीत सदस्यों का कार्यकाल भी पूरा हो रहा है। यह 5 सीटें भी भाजपा की झोली में जाने से भाजपा के सदस्यों की संख्या 27 तक पहुंच सकती है। उस समय सदन में कांग्रेस के 33 तथा जद-एस के 15 सदस्य होंगे। सभापति पद पर दावा मजबूत करने के लिए भाजपा ने जद-एस के कई सदस्यों के साथ संवाद शुरू कर दिया है।
विधान परिषद में मौजूदा स्थिति
कुल सदस्य 75
कांग्रेस 37
भाजपा 18
जद-एस 16
निर्दलीय 02
सभापति 01
रिक्त 01

Sanjay Kulkarni
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned