भाजपा ने पूर्व मुख्यमंत्री को कहा गुंडे जैसा व्यवहार कर रहे हो

भाजपा ने पूर्व मुख्यमंत्री को कहा गुंडे जैसा व्यवहार कर रहे हो
VidhanSabha

Ram Naresh Gautam | Updated: 12 Oct 2019, 04:49:43 PM (IST) Bangalore, Bangalore, Karnataka, India

  • बीजेपी के ट्विटर (Twitter) हैंडल से जो पोस्ट किया गया, उसमें लिखा कि जिसने भी यह वीडियो देखा, वह समझ गया कि गुंडे (Goon) और कांग्रेस (Congress) की संस्कृति में कोई फर्क नहीं है।

बेंगलूरु. कांग्रेस और जनता दल-एस गठबंधन सरकार के पतन के बाद कर्नाटक में बीएस येडियूरप्पा के नेतृत्व में भाजपा सरकार सत्ता में है। विधानमंडल का शीतकालीन सत्र बुलाया गया है। जिसका शनिवार को आखिरी रहा।

विधानसभा (Vidhansabha) की कार्यवाही के दौरान के एक वीडियो को संलग्न करते हुए कर्नाटक भाजपा के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से एक 12 अक्टूबर को सुबह 9.36 बजे एक पोस्ट किया गया।

इस पोस्ट की भाषा को लेकर कांग्रेस सरकार में मुख्यमंत्री रहे और वर्तमान में नेता प्रतिपक्ष सिद्धरामय्या (Siddaramaiah) का गुस्सा सातवें आसमान पर है।

बीजेपी के ट्विटर हैंडल से जो पोस्ट किया गया, उसमें लिखा कि जिसने भी यह वीडियो देखा, वह समझ गया कि गुंडे और कांग्रेस की संस्कृति में कोई फर्क नहीं है। पांच साल तक मुख्यमंत्री रहने वाले सिद्धरामय्या का सत्ता गंवाने के बाद ऐसा व्यवहार राज्य की स्थिति को नुकसान पहुंचाएगा। दरअसल, बीजेपी ने जो वीडियो पोस्ट के साथ अटैच किया है, उसमें सिद्धरामय्या और विधानसभा अध्यक्ष विश्वेश्वर हेगड़े कागेरी (Vishweshwara Hegde Kageri) के बीच तीखी बहस हो रही है।

स्‍पीकर क्‍लास टीचर नहीं, और हम प्राइमरी के छात्र नहीं

इसको लेकर सिद्धरामय्या ने बीजेपी की पोस्ट रिट्वीट करते हुए दो घंटे बाद करीब साढ़े 11 बजे लगातार दो ट्वीट किए। उन्होंने लिखा कि स्पीकर क्लास टीचर नहीं हैं, और ना ही हम प्राइमरी स्कूल के छात्र। स्पीकर को सदन में अंपायर की तरह होना चाहिए। हम यहां खिलाडिय़ों की तरह आए हैं तो हम दूसरे खिलाडिय़ों का सामना करेंगे।

भाजपा सदस्‍य की तरह काम कर रहे हैं विधानसभा अध्‍यक्ष

अगले ही पल उन्होंने लिखा कि स्पीकर कागेरी के साथ मेरा कोई पारस्परिक मनमुटाव नहीं है। मैं व्यवस्थागत शिष्टाचार से अच्छी तरह वाकिफ हूं। मगर मीडिया की अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का हनन करने वाले विधानसभा अध्यक्ष पद संभालने के पहले दिन से ही ऐसा व्यवहार कर रहे हैं, जैसे कि वे भाजपा के सदस्य हों, यह निंदनीय है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned