कांग्रेस के इस बड़े नेता के कार्यकाल पर जारी हुई पुस्तक, खुले कई राज

कांग्रेस के इस बड़े नेता के कार्यकाल पर जारी हुई पुस्तक, खुले कई राज

Santosh Kumar Pandey | Updated: 23 Sep 2019, 05:18:45 PM (IST) Bangalore, Bangalore, Karnataka, India

Siddaramaiah tenure book release function news, राज्य के इतिहास में सिद्धरामय्या को एक संवेदनशील प्रशासक के रूप में हमेशा याद रखा जाएगा

बेंगलूरु. पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धरामय्या ने समाज के जरुरतमंद तबकों पर ध्यान देते हुए उनके आंसू पोछने का कार्य किया है। लिहाजा राज्य के इतिहास में सिद्धरामय्या को एक संवेदनशील प्रशासक के रूप में हमेशा याद रखा जाएगा। स्वतंत्रता सेनानी एचएस दौरेस्वामी ने सिद्धरामय्या के प्रशासन कार्यकाल पर आधारित पुस्तक विमोचन समारोह में भाग लेते हुए ये बातें कही।

उन्होंने कहा कि सत्ता का उपयोग समाज के शोषित, दुर्बल तथा गरीबों के हितों की रक्षा के लिए होना चाहिए। सिद्धरामय्या ने सत्ता का उपयोग कैसा किया जाता है इसकी मिसाल पेश करने के साथ राज्य की राजनीति में अमिट छाप छोड़ी है। उन्होंने कहा की सिद्धरामय्या सामाजिक संवेदनाओं पर केंद्रित प्रशासन के प्रतीक बने। आनेवाले दिनों में ऐसे संवेदनशील तथा कुशल प्रशासक की सत्ता में वापसी होगी या नहीं होगी इसके बारे में कुछ नहीं कहा जा सकता है लेकिन अगर सत्ता मिली तो इस सत्ता का उपयोग सिद्धरामय्या हमेशा की तरह शोषितों के उत्थान के लिए ही करेंगे। उन्होंने पूर्व विधानसभा अध्यक्ष एसआर रमेशकुमार के कांग्रेस तथा जनता दल (एस) 17 विधायकों अयोग्य ठहराए के फैसले की सराहना करते हुए कहा कि केवल सत्ता के लिए क्षेत्र के मतदाताओं के साथ द्रोह करने वालों को इस फैसले से सबक मिलेगी। समारोह में उपस्थित विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष एसआर रमेशकुमार ने कहा कि सिद्धरामय्या वर्ष 2018 के चुनाव में चामुंडेश्वरी क्षेत्र में हुई हार से उबर नहीं पाए हंै।

समाज के गरीब तबके लिए इतनी योजनाएं लागू करने के बावजूद चुनाव में हुई करारी हार से सिद्धरामय्या मायूस है। इस हार ने कई सवाल पैदा किए हंै कि क्या समाज हमेशा जातिगत आधार पर ही मतदान करेगा? क्या समाज की नजरों मे संवेदनशील प्रशासन की कोई कीमत नहीं है? समाज के हितों की रक्षा के लिए सिद्धरामय्या को इस हार से उबरकर फिर एक बार संघर्ष करना होगा। सिद्धरामय्या की सत्ता में वापसी समाज के दुर्बल वर्गों के लिए संजीवनी के समान होगी।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned