भाजपा के दोनों नेता मिले लेकिन एक-दूसरे की तरफ देखा तक नहीं

  • शिकायती पत्र लिखने के बाद बदले हालात

By: Santosh kumar Pandey

Published: 05 Apr 2021, 05:39 PM IST

बेंगलूरु. कहते हैं, राजनीति में कोई किसी का दोस्त नहीं होता। वक्त के साथ सब कुछ बदलता रहता है। इसी का नमूना कर्नाटक की राजनीति में देखा जा रहा है। यहां इन दिनों भाजपा के दो दिग्गज नेताओं में इस कदर ठनी हुई है कि दोनों एक समारोह में मिले लेकिन एक-दूसरे की तरफ देखा तक नहीं।

भाजपा के वरिष्ठ नेता केएस ईश्वरप्पा (Rural Development & Panchayat Raj Minister K S Eshwarappa) ने हाल ही राज्यपाल को पत्र लिखकर मुख्यमंत्री के रवैए की शिकायत की थी। उसके बाद से ही वर्तमान मुख्यमंत्री बीएस येडियूरप्पा (Chief Minister B S Yediyurappa) व पूर्व उपमुख्यमंत्री व पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष रह चुके केएस ईश्वरप्पा के संबंधों में आई तल्खी कम होने का नाम नहीं ले रही है। हालात यह है कि दोनों को एक- दूसरे की सूरत भी देखना गवारा नहीं।

दावणगेरे के हरिहर तालुक के बेल्लुदी में छात्रावास, सामुदायिक भवन के उद्घाटन समारोह व एक मठ की सालगिरह के मौके पर दोनों नेता एक ही मंच पर आए जरूर लेकिन साथ होने पर भी दूरी बनी रही। हालांकि दोनों नेताओं ने भाषण में एक-दूसरे का नाम जरूर लिया। दो घंटे तक चले समारोह में दोनों ने एक-दूसरे का अभिवादन तक नहीं किया।

नजर मिलाए बिना ही लौट आए

ईश्वरप्पा समारोह में अपने पुत्र वेंकटेश के साथ पहुंचे थे जबकि उनके पहुंचने के थोड़ी देर बाद वहां पर मुख्यमंत्री बीएस येडियूरप्पा पहुंचे। दोनों ने नजदीक के एक मंदिर में साथ ही पूजा-अर्चना भी की लेकिन नजर मिलाए बिना ही वहां से लौट आए।

Santosh kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned