बारिश ने लगाई इंडियन सिलीकॉन वैली की रफ्तार पर ब्रेक

प्रतिदिन की तरह बुधवार को भी सूरज निकलने के साथ ही आसमान में बदली बनी रही

By: Ram Naresh Gautam

Published: 24 May 2018, 05:37 PM IST

बेंगलूरु. गत कई दिनों से हो रही बारिश शहरवासियों के लिए परेशानियों का सबब बन गई है। मार्ग की कंक्रीट उखड़ गई है, जिससे बड़े-बड़े गड्ढे हो गए हैं, उनमें पानी भर जाने से वाहन चालकों के लिए दुर्घटना की स्थिति पैदा हो जा रही है। अनेक क्षेत्रों में निर्माण कार्यों से मार्गों में परिवर्तन किया गया है, जिससे जाम लग रहा है। प्रतिदिन की तरह बुधवार को भी सूरज निकलने के साथ ही आसमान में बदली बनी रही।

शहर के कई हिस्सों में हल्की बारिश की फुहारें शुरू हो गईं। लेकिन करीब 1.30 से 3 बजे के दौरान शहर के अनेक हिस्सों में भारी बारिश दर्ज की गई। इलेक्ट्रॉनिक सिटी, मारतहल्ली रोड, यलहंका, केंगेरी, सिल्क बोर्ड जंक्शन, केआरपुरम, ओल्ड एयरपोर्ट रोड, हुलिमावु जंक्शन, शिवाजीनगर, मेजेस्टिक क्षेत्र, ओकलीपुरम, मैसूरु बैंक सर्कल, पीनिया के जालाहल्ली क्रॉस सहित शहर के विभिन्न हिस्सों में भारी यातायात जाम लग गया। बेंगलूरु मौसम विज्ञान केन्द्र के अनुसार शहर के विभिन्न हिस्सों में 40 मिमी और एचएएल क्षेत्र में 60 मिमी तक बारिश दर्ज की गई।


चक्रवाती दबाव का प्रभाव जारी
प्रदेश में बारिश का सिलसिला जारी है। श्रीलंका, दक्षिण-पश्चिम बंगाल की खाड़ी, उत्तरी तमिलनाडु और दक्षिण आंतरिक कर्नाटक क्षेत्रों में बने चक्रवाती दबाव के कारण प्रदेश के अनेक हिस्सों में बारिश हो रही है। मौसम विभाग के अनुसार 28 मई तक प्रदेश के अनेक हिस्सों में भारी बारिश की संभावना है। बुधवार को येल्लापुर, उत्तर कन्नड़, हुब्बली, कुंदगोल, कोप्पल, चिंचोली, रायचूर, होनावर, कारवार, मनकी, गेरुसोप्पा, जमखंडी, शृंगेरी, कोलार, बुक्कापट्टण, मुल्की, पुत्तूर, कुम्टा, अलमत्ती, कलबुर्गी, चित्तापुर, सेडम, मडिकेरी, कलसा, जयपुर , कम्मराडी, बेलेहोन्नूर में 20 से 50 मिमी तक बारिश हुई।

 

पहाड़ों पर छाई हरियाली
मंड्या. बारिश का मौसम शुरू होते ही पहाड़ी इलाके हरियाली से आच्छादित हाने लगे हैं। श्रीरंगपट्टण तहसील क्षेत्र के हुजणगेरे हरी-भरी पहाड़ी का लिया गया मनोरम दृश्य।


बारिश के बाद मौसम हुआ खुशनुमा
श्रीरंगपट्टण तहसील क्षेत्र सहित अन्य क्षेत्रों में बुधवार को बारिश हुई। बारिश के पहले तेज हवा चलने के बाद बरसाने का दौर शुरू हुआ। बारिश बरसने से पहले बिजली की आपूर्ति बंद कर दी गई। बारिश से मौसम खुशनुमा हो गया। बारिश से बचने के लिए लोग इधर-उधर भागते हुए नजर आए। बारिश के बाद खेत मे डाली गई मूंग व काले तिल के फ सलों में जान लौट आएगी।

Show More
Ram Naresh Gautam
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned