कर्नाटक विधानमंडल के बजट सत्र का आरंभ फिर 2 से

दो दिनों होगी संविधान पर विशेष चर्चा
5 मार्च को सीएम पेश करेंगे बजट
स्वतंत्रता सेनानी पर टिप्पणी के खिलाफ विपक्ष रहेगा हमलावर

By: Rajeev Mishra

Published: 01 Mar 2020, 07:17 PM IST

बेंगलूरु.
दस दिनों के अवकाश के बाद बजट सत्र के लिए राज्य विधानमंडल की बैठक सोमवार से फिर शुरू होगी। मुख्यमंत्री बीएस येडियूरप्पा 5 मार्च को विधानसभा में बजट पेश करेंगे।
बजट सत्र की शुरुआत पिछले 17 फरवरी को हुई थी और 20 फरवरी तक विधानमंडल का सत्र चला। इस दौरान राज्यपाल वज्जूभाई वाळा ने विधानमंडल के संयुक्त अधिवेशन को संबोधित किया। इसके बाद राज्यपाल के अभिभाषण पर चर्चा हुई। विधानमंडल का यह सत्र आगामी 31 मार्च तक चलेगा। अब जबकि सोमवार से सत्र फिर शुरू हो रहा है विपक्षी पार्टियां कांग्रेस और जद-एस सत्तारूढ़ भाजपा को कई मुद्दों पर घेरेगी। राज्य के 102 वर्षीय स्वतंत्रता सेनानी एचएस दोरैस्वामी के खिलाफ सत्तारूढ़ दल के विधायक और पूर्व केंद्रीय मंत्री बसनगौड़ा पाटिल यत्नाल की टिप्पणियों पर दोनों ही दलों ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की थी और इसे सदन भी उठाने की पूरी संभावना है। वहीं, कर्ज माफी के लिए 25 हजार करोड़ रुपए को कथित तौर पर दूसरी चीजों में लगाने जैसे मुद्दे भी विपक्ष उठा सकता है।
इस सत्र की सबसे महत्वपूर्ण चीज यह है कि विधानसभा अध्यक्ष विश्वेश्वर हेगड़े कागेरी की पहल पर संविधान अंगीकार किए जाने के 70 साल पूरा होने के उपलक्ष्य में तीन और चार मार्च को संविधान पर एक विशेष चर्चा होने की संभावना है। उच्च पदस्थ सूत्रों ने बताया कि संविधान पर चर्चा के अंत में संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के पक्ष में भाजपा एक प्रस्ताव के लिए जोर दे सकती है । विपक्षी दलों की ओर से इस पर तीखा प्रतिरोध होने की संभावना है। वित्त विभाग की जिम्मेदारी संभाल रहे मुख्यमंत्री बी एस येडियूरप्पा पिछले साल सत्ता में आने के बाद से भाजपा सरकार का पहला बजट पांच मार्च को प्रस्तुत करेंगे। कुल मिलाकर येडियूरप्पा पांचवीं बार बजट पेश करेंगे।

Rajeev Mishra Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned