अन्य बस चालकों के पथराव से हुई बस चालक की मौत

  • पांच गिरफ्तार

By: Santosh kumar Pandey

Published: 18 Apr 2021, 04:48 PM IST

बेंगलूरु. बागलकोट जिले की जमखंडी पुलिस ने बस पर पथराव के दौरान बस चालक की मौत के मामले में पांच अन्य चालकों को गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस के अनुसार विजयपुर से जमखन्डी जाने के लिए बस चालक ने उत्तर-पश्चिम कर्नाटक सडक़ परिवहन निगम (एन.डब्ल्यू.के.आर.टी.सी) की बस डिपो से निकाली। बस जमखन्डी की तरफ जा रही थी। चिकपदजा सालगी जलाशय के करीब कवटगी पुनर्वास केन्द्र के पास दूसरे चालकों ने बस पर पथराव किया।

बस के आगे का शीशा टूटने से चालक नबी रसूल अवटी (55) गंभीर रूप से घायल हो गया। उसने बस रोक कर 39 यात्रियों को उतर जाने दिया। नबी रसूल को सरकारी अस्पताल ले जाया गया। चिकित्सक ने उसकी जांच कर मृत घोषित कर दिया।

पुलिस ने त्वरित कार्रवाई कर पांच चालक मलप्पा तलवार (45), चेतन कर्वे (50), सदाशिव कंकनवाडी (52), लोहित दासर (38) और अरुण अराकेरी (49) को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने बताया कि हड़ताल के कारण नबी रसूल परिवार के साथ घर पर था। एन.डब्ल्यू.के.आर.टी.सी. के अधिकारी ने उसके निवास पहुंच कर चेतावनी दी कि अगर वह काम पर नहीं लौटा तो उसे सेवा से निकाला जा सकता है।

बस चलाने पर हत्या की धमकी

नबी रसूल काम कर लौट आया था। उसके साथी चालकों ने उसे बस चलाने पर हत्या की धमकी दी थी। फिर भी उसने गुरुवार को जमखंडी से महालिंगपुर बस चलाई थी। नबी रसूल 1984 से चालक के तौर पर बस चलाने लगा था। गत 37 सालों में एक भी हादसा नहीं करने पर उसे मुख्यमंत्री स्वर्ण पदक से प्रदान किया गया था।

परिजनों को सौंपा मुआवजा राशि का चेक

एन.डब्ल्यू.के.आर.टी.सी के प्रबंधन निदेशक कृष्णा वाजपेयी ने नबी रसूल के घर जाकर उनकी पत्नी सायरा बानो को 30 लाख रुपए का चेक दिया और सरकार से अन्य सुविधाएं दिलाने का आश्वासन दिया।

Santosh kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned