मुख्यमंत्री के समर्थक कैब चालक ने पहले ही बता दिया था आयकर विभाग की कार्रवाई के बारे में

सूत्रों के अनुसार कुमारस्वामी के एक समर्थक कैब चालक ने एक ग्राहक की गतिविधियों पर संदेह किया और उसी ने कुमारस्वामी तक आयकर छापेमारी होने की सूचना पहुंचाई।

By: Santosh kumar Pandey

Published: 29 Mar 2019, 04:11 PM IST

बेंगलूरु. बुधवार रात शुरू हुई आयकर छापेमारी के कुछ घंटे पहले ही मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने मीडिया के सामने खुलासा किया था कि गुरुवार को उनके दल नेताओं और समर्थकों के यहां आयकर छापेमारी होगी। कुमारस्वामी के इस बयान से ऐसा लगा कि वे राजनीतिक प्रतिद्वंद्विता में यह बोल रहे हैं।

हालांकि बाद में जब बुधवार रात ही आयकर विभाग ने कई जगहों पर छापेमारी की तब स्पष्ट हो गया कि कुमारस्वामी को इसकी पुख्ता सूचना पहले ही मिल चुकी थी। आयकर विभाग की कार्रवाई बेहद गुप्त तरीके से होती है और कई बार विभाग के अधिकारियों को भी अंतिम समय तक इसका पता नहीं चलता है।

ऐसे में कुमारस्वामी के पास पुख्ता सूचना कहां से लीक हुई, यह सबके लिए चौंकाने वाला विषय रहा। सूत्रों के अनुसार कुमारस्वामी के एक समर्थक कैब चालक ने एक ग्राहक की गतिविधियों पर संदेह किया और उसी ने कुमारस्वामी तक आयकर छापेमारी होने की सूचना पहुंचाई। बेंगलूरु में काम करने वाले नागमंगला तालुक के एक अज्ञात चालक को जब पता चला कि एक ग्राहक ने दर्जनों कैब बुक कराए हैं और उनका गंतव्य मंड्या, हासन, मैसूरु जिले हैं, तब उसे संदेह हुआ कि यह जद-एस के खिलाफ कोई कार्रवाई हो सकती है।

जद-एस का समर्थक होने के कारण उसे नागमंगला तालुक के पार्टी नेताओं को इसकी सूचना दी। नागमंगला तालुक की एक महिला जद-एस नेता ने तुरंत इसकी सूचना जिला प्रभारी मंत्री सीएस पुट्टराजू को दी। महिला का ऑडियो सोशल मीडिया पर भी चल रहा है, जिसमें वह चालक से मिली सूचना के बारे में बात कर रही है। पुट्टराजू ने कुमारस्वामी को आयकर विभाग की संभावित छापेमारी से अवगत कराया, जिसके बाद कुमारस्वामी ने मीडिया में बयान दिया।

Santosh kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned