बीडीए के छह कर्मचारी समेत ग्यारह के खिलाफ मामला दर्ज

जाली दस्तावेजों का इस्तेमाल

By: Santosh kumar Pandey

Published: 17 Sep 2020, 11:13 PM IST

बेंगलूरु. शेषाद्रिपुरम पुलिस ने बेंगलूरु विकास प्राधिकरण (bda) के छह अधिकारियों समेत 11 लोगों के खिलाफ जाली दस्तावेजों को तैयार कर नकली लाभार्थियों को पांच भूखंडों की खरीदी पत्र देने के मामले में प्रथामिकी दर्ज की है।

पुलिस ने बीडीए के आयुक्त डॉ.एच.आर.महादेव की शिकायत पर उप सचिव राजू, उप सचिव-4 के पर्यवेक्षक आर.कुमार, प्रथम श्रेणी लिपिक डी.मंजुला, बीडीए अधिकारी एन.बी.जयराम, जे.चन्ना केशव, मल्लिकार्जुन और नकली लाभार्थी अनसूया, वी.नागभूषण, वरलक्ष्मी, जयलक्ष्मी और माश्तानय्या के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है।

पुलिस के अनुसार बीडीए ने बेंगलूरु पूर्व तहसील वरतूर होबली काडुबिसनाहल्ली गांव के सर्वे नंबर 26/1 की 1.18 एकड़ भूमि में बनाए गए ले आउट में 30 गुण 40 के पांच भूखंड को जनरल पॉवर ऑफ अटार्नी (जीपीएफ) के जरिए अनुसूया, नागभूषण, वरलक्ष्मी, जयलक्ष्मी और माश्तानय्या को असली लाभार्थी बताकर उनके नाम खरीदी के पत्र तैयार कर दिए थे।

भूखंडों के जाली दस्तावेज तैयार कर बीडीए में दाखिल किए

बीडीए के कर्मचारी राजू, आर.कुमार, मंजुला, जयराम, डी वर्ग के कर्मचारी चन्नाकेशव और मल्लिकाजज्ञन के साथ मिल कर भूखंडों के जाली दस्तावेज तैयार कर बीडीए में दाखिल किए। अवैध रूप से खरीदी पत्र तैयार कर भूखंडों को पंजीकृत करवा दिया। इससे बीडीए को १० करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है।

इस मामले में बीडीए के आयुक्त डॉ.एच.आर.महादेव ने अभियोग विभाग के पर्यवेक्षक ए. महादेवय्या, आर्थिक विभाग के एनबी जयराम, राजू, आर.कुमार और मंजुला को नोटिस जारी किए थे। नोटिस का जवाब नहीं मिलने पर उन्हें निलंबित कर दिया गया है।

Santosh kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned