सीबीआई की विशेष न्यायालय ने 24 लोगों को समन जारी किया

  • भूखंडों के आवंटन में भ्रष्टाचार का मामला

By: Nikhil Kumar

Published: 18 Jul 2021, 08:02 PM IST

बेंगलूरु. केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई ) की विशेष न्यायालय ने मंड्या शहरी विकास प्राधिकरण के 107 भूखंडों के अवैध आवंटन मामले में 24 लोगंों को सुनवाई के लिए पेश होने के लिए समन जारी किया।
न्यायालय ने विधायक सी.एस.पुट्टाराजू, एम.श्रीनिवास, पूर्व विधायक ए.बी.रमेश, बन्डीसिद्दे गौड़ा, प्राधिकरण की पूर्व चेयरमैन विद्या नागेन्द्र, नगरसभा के पूर्व सदस्य एम.जे.चिक्कण्णा और प्राधिकरण के आयुक्त उपेन्द्र नायक, आठ अधिकारियों समेत 24 लोगों को न्यायालय के समक्ष पेश होने का समन जारी किया।

बताया जाता है कि नागरिकों ने भूखंडों के लिए अर्जियों को दाखिल करने से पहले ही प्राधिकरण ने अवैध रूप से 107 भूखंडों की बिक्री की थी। इसके खिलाफ सूचना के अधिकार (आरटीआई) कार्यकर्ता के.आर.रवीन्द्र ने 2010 में लोकायुक्त से शिकायत की थी। भ्रष्टाचार पांच करोड़ रुपयों से अधिक होने पर इसकी जांच की जिम्मेदारी सीआईडी को सौंपी थी। फिर 2014 में जांच की जिम्मेदारी सीबीआई को सौंपी गई थी।

सीबीआई अधिकारियों ने मामले की जांच कर विशेष न्यायालय में आरोपपत्र दाखिल किया था। प्राधिकरण से 107 भूखन्ड आवंटन कर करोड़ों रुपए गबन किए थे। मंड्या जिला केन्द्रीय सहकारिता बैंक में दो करोड़ और राम नगर-चन्नपट्टन शहरी विकास प्राधिकरण में भी 16.50 करोड़ रुपयों का भ्रष्टाचार होने पर तीनों मामलों की जांच सीबीआई को सौंपी थी।

Nikhil Kumar Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned