केएसआरटीसी की 80 प्रतिशत बसों में सीसीटीवी कैमरे

कर्नाटक राज्य सडक़ परिवहन निगम (केएसआरटीसी) ने अपने बेड़े की ८० प्रतिशत बसों में सीसीटीवी कैमरे लगाने का काम पूरा कर लिया

By: शंकर शर्मा

Published: 10 Nov 2017, 10:45 PM IST

बेंगलूरु. कर्नाटक राज्य सडक़ परिवहन निगम (केएसआरटीसी) ने अपने बेड़े की ८० प्रतिशत बसों में सीसीटीवी कैमरे लगाने का काम पूरा कर लिया है और जल्दी ही सभी बसों में भी यह व्यवस्था हो जाएगी।


केएसआरटीसी के प्रबंध निदेश एसआर उमाशंकर ने बताया कि यात्रियों की सुरक्षा के लिए ६ महीने पहले केएसआरटीसी के सभी बस अड्डों, डिपों और सभी बसों में सीसीटीवी कैमरे लगाने का निर्णय लिया गया था। सभी डिपो, बस अड्डों में सीसीटीवी कैमरे लगा दिए गए हैं, लेकिन कुछ बसों में यह काम अभी जारी है। उन्होंने कहा कि निगम की सभी प्रीमियम बसों और कर्नाटक सारिगे के ३ हजार बसों में कैमरे लग चुके हैं। निगम की ८५०० बसों में से ३ हजार प्रीमियम और ३ हजार कर्नाटक सारिगे सहित कुल ६ हजार बसों में सीसीटीवी लग चुके हैं।


सीसीटीवी कैमरे लगाने की प्रक्रिया विभाग द्वारा केएसआरटीसी के सभी बस अड्डों को आधुनिक बनाने के लिए किए जा रहे ढांचागत सुधारों की तहत होना है। इसके लिए अलग से बजट नहीं है। सीसीटीवी कैमरे लगाने का काम निगम को आधुनिक बनाने के लिए आवंटित ४२ करोड़ रुपए की राशि में ही प्रयोग किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि निगम ने यात्रिओं की सुविधाओं को घ्यान में रखते हुए कई नि:शुल्क पानी और अखबार देने जैसी सुविधाएं शुरू की हैं जिसका यात्रियों की तरफसे अच्छी प्रक्रिया मिल रही है।

शताब्दी भवन का निर्माण दिसम्बर से
बेंगलूरु. चामराजपेट में स्थित कन्नड़ साहित्य परिषद के शताब्दी भवन का निर्माण शीघ्र शुरू होगा। साहित्य परिषद के अध्यक्ष मनु बालिगार ने यह जानकारी दी। शहर में गुरुवार को उन्होंने पत्रकारों को बताया की वर्ष 2014 में मुख्यमंत्री सिद्धरामय्या ने इस भवन के लिए शिलान्यास किया था।

निर्माण के लिए 2 करोड़ 50 लाख रुपए का आवंटन भी किया गया था। लेकिन कर्नाटक आवास निगम ने निर्माण शुरू नहीं किया। हाल में कन्नड़ साहित्य परिषद ने मुख्यमंत्री से संवाद किया है। मुख्यमंत्री ने मैसूर साहित्य सम्मेलन के पश्चात दिसंबर के पहले या दूसरे सप्ताह में निर्माण कार्य शुरू करने का आश्वासन दिया है।

लगभग 18 माह में इस भवन का निर्माण होगा। इस भवन के लिए राज्य सरकार अतिरिक्त 1 करोड़ 70 लाख रुपए अनुदान जारी करेगी। उन्होंने बताया कि तीन मंजिला भवन में कार्यालय, तीसरे माले में आधुनिक सभागार, पुुस्तकालय तथा 6 अतिथि गृहों का निर्माण किया जाएगा।

शंकर शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned