कोविड सुरक्षा कारणों से कोडुगू में सीइटी के लिए पांच परीक्षा केंद्र स्थापित

परीक्षा के पहले सभी केंद्रों को सैनिटाइज किया जाएगा। प्रवेश से पहले थर्मल स्क्रीनिंग होगी। मास्क के बिना किसी को भी केंद्र में प्रवेश की इजाजत नहीं मिलेगी।

By: Nikhil Kumar

Published: 24 Jul 2020, 12:26 AM IST

कोडुगू. कर्नाटक संयुक्त प्रवेश परीक्षा (केसीइटी) के लिए कोडुगू जिला प्रशासन ने पांच परीक्षा केंद्र स्थापित किए हैं। जिलाधिकारी एनीस कनमनी जॉय ने गुरुवार को बताया कि परीक्षार्थियों व कर्मचारियों को कोरोना संक्रमण से बचाए रखने के लिए यह निर्णय लिया गया है। सामाजिक दूरी बरकरार रखने में भी मदद मिलेगी। परीक्षा के पहले सभी केंद्रों को सैनिटाइज किया जाएगा। प्रवेश से पहले थर्मल स्क्रीनिंग होगी। मास्क के बिना किसी को भी केंद्र में प्रवेश की इजाजत नहीं मिलेगी।

जॉय ने बताया कि कंटेनमेंट जोन के परीक्षार्थियों सहित कोविड मरीजों के प्राइमरी व सेकंडरी कान्टैक्ट्स घोषित परीक्षार्थी अलग कमरे में परीक्षा लिखेंगे। परीक्षा का आयोजन 30 और 31 जुलाई को होगा।

सीइटी रद्द हो, 12वीं के आधार पर दाखिला देने की मांग

राज्य के पूर्व कुलपतियों के फोरम (एफवीसीके) ने सरकार से इस वर्ष के लिए कर्नाटक संयुक्त प्रवेश परीक्षा (केसीइटी) रद्द करने और विद्यार्थियों को द्वितीय पीयू (12वीं) में आर्जित अंकों के आधार पर डिग्री कॉलेजों में दाखिला देने की अपील की है।

एफवीसीके सचिव डॉ. आर. एन. श्रीनिवास गौड़ा ने कहा कि विभिन्न कारणों से परीक्षा का ऑनलाइन आयोजन संभव नहीं है। परीक्षा की विश्वसनीयता बनाए रखने के लिए एंटी चीटिंग प्रणाली की जरूरत है। सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों के विद्यार्थियों के पास इंटरनेट तक की सुविधा नहीं है। पहले द्वितीय पीयू के अंकों के आधार पर ही दाखिला देने का प्रावधान था जिसे इस संकट की घड़ी में अपनाया जा सकता है। डॉ. श्रीनिवास ने कहा कि परीक्षा के नाम पर विद्यार्थियों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ ठीक नहीं है। संगठन कॉमेड-के सहित अखिल भारतीय केंद्रीय प्रतियोगी परीक्षाएं भी रद्द करने की अपील की है।

Nikhil Kumar Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned