चातुर्मास में घर-घर धर्म की ज्योति जले: मुनि रमेश कुमार

मौन जुलूस के साथ हुआ चातुर्मास प्रवेश

By: Santosh kumar Pandey

Published: 26 Jun 2020, 04:47 PM IST

हासन. मुनि रमेश कुमार व सहवर्ती मुनि धीरज कुमार का चातुर्मास के लिए हासन के तेरापंथ भवन में प्रवेश हुआ। रमेश कोठारी के निवास से मुनिद्वय ने प्रस्थान किया। मौन जुलूस के साथ तेरापंथ भवन में मंगल प्रवेश हुआ।

स्वागत समारोह में मुनि रमेश कुमार ने कहा कि चातुर्मास में ज्ञान, दर्शन, चारित्र और तप रूपी धर्म की अधिक से अधिक आराधना एवं साधना हो। धर्म की ज्योति घर घर जले। धर्म ज्योति से ही कोरोना से सुरक्षित रह सकते हैं।

घर में रहें सुरक्षित रहें। आत्मा रूपी घर में हमें निवास करना है। तभी हम सुरक्षित रह सकते हैं। संतों का वास्तविक स्वागत तो तप-त्याग, संयम- नियम से होता है।

चातुर्मास धर्म की आराधना का अनूठा अवसर

मुनि धीरज कुमार ने कहा कि चातुर्मास धर्म की आराधना का अनूठा अवसर होता है। धर्म के द्वारा तीर्थ रूपी रथ को सदा आगे बढ़ाते हुए मोक्ष रूपी मंजिल को प्राप्त करना है।

इससे पूर्व तेरापंथ महिला मंडल ने महाश्रमण अष्टकम् से मंगलाचरण किया । महावीर भंसाली ने संपूर्ण जैन समाज की ओर से संतों का स्वागत किया। तेरापंथ सभा के अध्यक्ष जयंतीलाल कोठारी ने संतों का परिचय दिया। बेंगलूरु के महेन्द्र दक ने भी विचार व्यक्त किए।

मूर्ति पूजक समाज के अध्यक्ष देवराज पारलेचा, स्थानकवासी समाज के अध्यक्ष बसंत बोहरा ने अपने समाज की ओर से स्वागत किया। तेरापंथ महिला मंडल ने स्वागत गीत प्रस्तुत किया। तेरापंथ सभा के मंत्री सोहन लाल तातेड़ ने आभार ज्ञापित किया।

Santosh kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned