सत्ता से दूर रखने के लिए हुए नगर निकाय आरक्षण सूची में बदलाव

सत्ता से दूर रखने के लिए हुए नगर निकाय आरक्षण सूची में बदलाव

Shankar Sharma | Publish: Sep, 09 2018 10:42:17 PM (IST) Bangalore, Karnataka, India

प्रदेश भाजपा इकाई ने दावा किया है कि नगर निकाय की आरक्षण सूची में बदलाव किया जाना पार्टी को सत्ता से दूर करने की साजिश है।

बेंगलूरु. प्रदेश भाजपा इकाई ने दावा किया है कि नगर निकाय की आरक्षण सूची में बदलाव किया जाना पार्टी को सत्ता से दूर करने की साजिश है। 25 से अधिक नगर निकाय में अध्यक्ष तथा उपाध्यक्ष पदों के लिए आरक्षण सूची में बदलाव किया गया।

प्रदेश भाजपा के महामंत्री एन. रविकुमार ने कहा कि शनिवार को कहा कि राज्य सरकार आरक्षण सूची में परिवर्तन करना जनादेश का अपमान है। अध्यक्ष तथा उपाध्यक्ष के आरक्षण सूची में बदलाव के कारण राज्य की 20 से 25 नगर निकाय में भाजपा के पास बहुमत होने के बावजूद सत्ता से दूर रखने की स्थिति बनी है। अगर सरकार यह फैसला नहीं बदलती है तो राज्य व्यापी प्रदर्शन किया जाएगा।

शिक्षकों को नहीं मिल रहा वेतन
उन्होंने कहा कि प्रदेश के 12 हजार से अधिक सरकारी प्राथमिक तथा माध्यमिक विद्यालयों के शिक्षकों को गत 6 माह से मासिक वेतन का भुगतान नहीं किया गया है। जो कुप्रशासन की मिसाल है। इस मामले पर मंत्री तथा अधिकारियों ने चुप्पी नहीं तोड़ी है। उन्होंने कहा कि गठबंधन दलों के नेताओं ने एयर शो बेंगलूरु से लखनऊ स्थानांतरित होने का भ्रम फैलाकर केंद्र सरकार को बदनाम करने का प्रयास किया। अब स्थिति स्पष्ट है बेंगलूरु में ही एयर शो हो रहा है। हम इसके लिए प्रधानमंत्री तथा रक्षा मंत्री को बधाई देते हैं।


किसी भी भाजपा नेता ने संपर्क नहीं किया : रमेश जारकीहोली
बेलगावी. किसी भी भाजपा नेता ने मेरे साथ संपर्क नहीं किया है। मैंने बेलगावी जिले में बूथस्तर से लेकर कांग्रेस का संगठन तैयार किया है, ऐसे में कांग्रेस छोडक़र भाजपा में शामिल होने का सवाल ही पैदा नहीं होता है। लघु उद्यम मंत्री रमेश जारकीहोली ने यह बात कही।


यहां शनिवार को उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री बी.एस. येड्डियूरप्पा राज्य के वरिष्ठ राजनेता हंै। ऐसे में अगर वे चायपान के लिए उनके घर आना चाहते हैं तो उनका स्वागत है, लेकिन किसी भी हालत में मैं भाजपा में शामिल होने का प्रस्ताव कतई स्वीकार नहीं करूंगा।


पूर्वमंत्री सतीश जारकीहोली ने कहा कि मीडिया के कारण बेलगावी तहसील के पीएलडी बैंक का चुनाव सुर्खियों में आया। साथ में राज्य की 6 करोड़ जनता की नजरें में भी इस बैंक के चुनाव पर थीं। पार्टी के हितों को सर्वोपरि मानकर जिले के कांग्रेस नेताओं ने इस समस्या का समाधान कर लिया है।


एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि मैं मंत्री पद इच्छुक नहीं हूं। अगर भविष्य में उनके स्वाभिमान को ठेस पहुंचाने का प्रयास किया जाता है तो वे इसके खिलाफ संघर्ष करेंगे। ऐसी स्थिति में कोई भी राजनीतिक फैसला लेने के लिए जारकीहोली परिवार स्वतंत्र है।

Ad Block is Banned