मुख्यमंत्री ने की राज्यपाल से मुलाकात

गृहमंत्री बसवराज बोम्मई ने इसे शिष्टाचार भेंट बताया

By: Sanjay Kulkarni

Updated: 01 Aug 2020, 08:27 AM IST

बेंगलूरु. मुख्यमंत्री बीएस येडियूरप्पा तथा गृहमंत्री बसवराज बोम्मई ने शुक्रवार को राजभवन में वजूभाई वाळा के साथ मुलाकात की। हालांकि मुख्यमंत्री की शुक्रवार की दैनंदिन कार्यसूची में यह कार्यक्रम नहीं था। राज्यपाल के साथ मुख्यमंत्री की इस 10 मिनट की गैर नियोजित इस मुलाकात को मंत्रिमंडल के विस्तार या पुर्नगठन की अटकलों से जोड़कर देखा जा रहा है। गृहमंत्री बसवराज बोम्मई ने इसे शिष्टाचार भेंट बताया और कहा कि मुख्यमंत्री ने राज्यपाल को राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण के हालात तथा महामारी को नियंत्रित करने के लिए राज्य सरकार के प्रयास और अन्य विषयों की जानकारी दी है।

राज्यपाल ने कोरोना महामारी को रोकने के लिए आयुर्वेदिक चिकित्सा पर भी ध्यान देने की बात कही है। राज्य सरकार इस विकल्प पर भी ध्यान देगी। उन्होंने कहा कि मुलाकात के दौरान मंत्रिमंडल के विस्तार या पुनर्गठन को लेकर कोई बातचीत से इनकार किया। बताया जा रहा है कि हृदय की शल्य चिकित्सा के बाद आराम के लिए राज्यपाल गुजरात जाने वाले हैं। मुख्यमंत्री उससे पहले मंत्रिमंडल का विस्तार या पुनर्गठन के लिए समय तय करना चाहते थे इसी सिलसिले में उन्होंने राज्यपाल से मुलाकात की। सब कुछ ठीकठाक रहा तो 10 अगस्त से पहले मंत्रिमंडल का विस्तार या पुर्नगठन का किया जा सकता है।

मुख्यमंत्री अगस्त के पहले सप्ताह में पार्टी आलाकमान से बातचीत के लिए नई दिल्ली जा सकते हैं।उल्लेखनीय है कि मंत्रिमंडल में अभी 6 स्थान रिक्त है। इन छह स्थानों के लिए पार्टी में 20 से अधिक दावेदार होने के कारण मंत्रिमंडल विस्तार के बदले 5-6 मंत्रियों को हटाकर मंत्रिमंडल का पुनर्गठन कर वरिष्ठ विधायकों को मंत्रिमंडल में शामिल करने की योजना है।उधर, हाल में निगमों के अध्यक्ष की नियुक्ति से भी कई विधायक नाराज है। 20 विधायकों में से 5-6 विधायकों ने मंत्री बनाने की मांग करते हुए निगम का अध्यक्ष पद स्वीकार करने से इनकार कर दिया है।

Sanjay Kulkarni Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned