सरकार की इच्छा स्वावलंबी हों नि:शक्त

Shankar Sharma

Publish: Sep, 12 2017 09:35:00 (IST)

Bangalore, Karnataka, India
सरकार की इच्छा स्वावलंबी हों नि:शक्त

मुख्यमंत्री सिद्धरामय्या ने कहा कि शारीरिक तौर पर 70 फीसदी से अधिक नि:शक्तों का सर्वेक्षण कर उनकी पहचान करने का निर्णय किया गया

बेंगलूरु. मुख्यमंत्री सिद्धरामय्या ने कहा कि शारीरिक तौर पर 70 फीसदी से अधिक नि:शक्तों का सर्वेक्षण कर उनकी पहचान करने का निर्णय किया गया है और उन्हें अगले तीन साल में दोपहिया वाहन दिए जाएंगे।


सोमवार को यहां विधानसौधा के पूर्वी द्वार पर वरिष्ठ नागरिक कल्याण विभाग की तरफ से यंत्रचालित दोपहिया वाहन वितरित करने के बाद मुख्यमंत्री सिद्धरामय्या ने कहा कि पिछले दो साल से नि:शक्तों को दोपहिया वाहन वितरित करना संभव नहीं हो सका। एक साल निविदा में तकनीकी खामी रह गई जबकि दूसरे साल केन्द्र सरकार ने वाहन का मॉडल बदल दिया। इसी वजह से दोपहिया वाहन वितरण में विलंब हुआ।


उन्होंने कहा कि 2017-18 में 4 हजार वाहन वितरित करने का लक्ष्य रखा गया है जिसे इसी साल दिसंबर तक हासिल कर लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि 75 फीसदी विकलांगता के शिकार लोगों का राज्य में सर्वे करने के निर्देश दिए गए हैं। सर्वे के दौरान चयनित लोगों को अगले तीन साल में वाहन देने का निर्णय किया गया है। उन्होंने कहा कि 2013-14 में इस विभाग को 647 करोड़ रुपए का अनुदान दिया गया था जिसे इस साल बढ़ाकर 1,074 करोड़ रुपए कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि सरकार चाहती है नि:शक्त स्वावलंबी बनकर समाज में अच्छा जीवन बिताएं। इसके लिए राज्य सरकार ने कई प्रकार की सुविधाएं दी हैं।

इसमें नि:शक्तोंं को रोजगार में आरक्षण और विवाह होने तक 50 हजार रुपए की प्रोत्साहन राशि देने की योजनाएं भी शामिल हैं। इस अवसर पर महिला व बाल विकास मंत्री उमाश्री सहित सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

पालिका में बना रहेगा कांग्रेस-जद (ध) गठबंधन: सिद्धू
महापौर चुनाव पर मुख्यमंत्री सिद्धरामय्या ने कहा कि चुनाव 28 सितंबर को होंगे। जद (ध) के साथ गठबंधन पर रोशन बेग ने एचडी देवेगौड़ा से पहले दौर की बात की है।

बीबीएमपी में कांग्रेस-जद (ध) के गठबंधन को कोई खतरा नहीं है। मुख्यमंत्री ने बातचीत का खुलासा करने से इनकार करते हुए कहा कि लोग गठबंधन टूटने की अकारण अफवाहें फैला रहे हैं। लेकिन ऐसा कुछ नहीं है। जद (ध) के प्रदेश अध्यक्ष एचडी कुमारस्वामी के कांग्रेस से गठजोड़ के मसले पर कोई बातचीत नहीं करने संबंधी बयान पर सिद्धरामय्या ने कहा कि देवेगौड़ा से पहले ही बात हो चुका है। उन्होंने कहा कि महापौर, उप महापौर का निपटारा होने पर गठजोड़ पक्का हो जाएगा।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned