छक्कों के मामले में विश्व का इकलौता स्टेडियम बना चिन्नास्वामी

छक्कों के मामले में विश्व का इकलौता स्टेडियम बना चिन्नास्वामी

Ram Naresh Gautam | Publish: May, 02 2018 09:40:48 PM (IST) Bengaluru, Karnataka, India

पॉवर प्ले में शानदार गेंदबाजी के बाद डेथ ओवर में भी आरसीबी ने किया बेहतर प्रदर्शन

बेंगलूरु. कोहली ने चिन्नास्वामी स्टेडियम में अपना 100 वां ***** लगाया। वे तीसरे ऐसे बल्लेबाज बने, जिन्होंने इस मैदान में 100 छक्के लगाए हैं। उनसे पहले यहां क्रिस गेल 150 और एबी डीविलियर्स 101 छक्के लगा चुके हैं। इसके साथ ही चिन्नास्वामी स्टेडियम एक मात्र ऐसा स्टेडियम बन गया जहां तीन बल्लेबाजों ने 100 से ज्यादा छक्के लगाये हैं। आरसीबी टीम ने इस दौरान आईपीएल में 1000 से ज्यादा छक्के लगाने का आंकड़ा पार कर लिया।

आइपीएल 2018 में अब तक अपने फीके प्रदर्शन के कारण अंक तालिका में निचले पायदान पर फिसली आरसीबी और मुंबई इंडियंस के बीच चिन्नास्वामी स्टेडियम में जोरदार मुकाबला हुआ। इस अहम मुकाबले के लिए दोनों टीमों ने एक-एक परिवर्तन किए। जहां आरसीबी ने एम अश्विन की जगह वाशिंगटन सुंदर को जगह दी, वहीं मुंबई ने लुइस की जगह कीरोन पोलार्ड को टीम में शामिल किया। मनन वोहरा ने आरसीबी को अच्छी शुरुआत दिलाई। मैच का पहला ओवर करने आये जेपी डुमिनी की दूसरी ही गेंद पर ***** लगाकर वोहरा ने अपने इरादे जाहिर कर दिए। वहीं डुमिनी के ही दूसरे ओवर में वोहरा ने 2 चौके और 2 ***** लगाए। इसके बावजूद आरसीबी पावर प्ले के दौरान 43 रन ही बना पाई।


वोहरा ने 31 गेंदों में 2 चौके और 4 छक्कों की मदद से 45 रन की शानदार पारी खेली और स्कोर 61 रन तक पहुंचाया। वोहरा के आउट होने के बाद कोहली और मैक्कलम ने आरसीबी की पारी आगे बढ़ाई। इस दौरान कोहली और मैक्कलम ने 36 गेंदों में 60 रन की साझेदारी की। हार्दिक पंड्या के एक शानदार थ्रो से यह साझेदारी उस वक्त टूटी जब आरसीबी का स्कोर 121 रन था। दरअसल, मैक्कलम ने एक शानदार स्ट्रोक लगाया, लेकिन पंड्या ने उतनी फुर्ती के साथ गेंद पकड़ी और मिड ऑफ से सीधा थ्रो स्टम्प्स में दे मारा।

पूरा स्टेडियम पंड्या के शानदार क्षेत्ररक्षण से स्तब्ध हो गया। क्षेत्ररक्षण के बाद पंड्या ने गेंदबाजी में भी हाथ दिखाए और लगातार दो गेंदों पर नजर जमा चुके बल्लेबाज मनदीप सिंह और विराट कोहली को आउट कर आरसीबी को बैकफुट पर ला दिया। पंड्या का वह तीसरा ओवर था। उसी ओवर की आखिरी गेंद पर पंड्या ने वाशिंगटन सुंदर को भी पवैलियन लौटकर एक ही ओवर में तीन खिलाडिय़ों को आउट किया। उस ओवर में पंड्या ने महज दो रन खर्चे। कोहली ने 26 गेंदों में 32 रन बनाए। लगातार विकेट गिरने के कारण एक समय 200 रन के लक्ष्य तक पहुंचती नजर आ रही आरसीबी 20 ओवर में 167 रन ही बना सकी।

हालांकि 18वें और 19वें ओवर में आरसीबी ने केवल 2-2 रन बनाए लेकिन आखिरी ओवर में कॉलिन डी ग्रांडहोम ने 23 (कुल 24 रन) रन बनाकर आरसीबी को सम्मानजनक स्थिति में पहुंचा दिया। लचर गेंदबाजी के कारण अब तक आलोचकों के निशाने पर रही आरसीबी की गेंदबाजी पावर प्ले के दौरान शानदार रही। टिम साउदी और उमेश यादव ने पहले 6 ओवर में तीन विकेट चटकाए जबकि मुंबई इंडियंस 40 रन ही बना सके। खासकर यादव और कीरोन पोलार्ड के बीच रोचक संघर्ष देखने को मिला। पोलार्ड यादव के सामने असहज रहे और उनकी एक गेंद पोलार्ड के हेलमेट से भी टकराई। हालांकि, पोलार्ड ने एक चौका भी लगाया, लेकिन यादव ने उन्हें काफी परेशान किया। अन्तत: 13 रन के स्कोर पर मो सिराज ने उन्हें विकेटकीपर डिकॉक के हाथों कैच कराकर पवैलियन लौटा दिया।

मुम्बई 47 रन पर 4 विकेट खोकर संकट में फंस चुकी थी। हालांकि, हार्दिक पंड्या और जेपी डुमिनी ने पारी को संभाला और 5वें विकेट के लिए 37 रन जोड़े लेकिन इसके लिए उन्होंने 29 गेंदे खेली। उमेश यादव के शानदार थ्रो पर जब डुमिनी रन आउट हुए तो मुंबई का स्कोर 84 रन था।
इसके बाद पंड्या भाइयों कुणाल और हार्दिक के कंधों पर मुंबई को लक्ष्य तक पहुंचाने की जिम्मेदारी आ गई। दोनों भाइयों ने 39 गेंदों में 56 रन जोड़कर स्कोर 140 तक पहुंचाया।

लेकिन 3 रन के अंतराल पर दोनों के आउट होने से 19वें ओवर की समाप्ति पर स्कोर 143 रन था और मुंबई को जीत के लिए 25 रन की जरूरत थी। पॉवर प्ले में शानदार गेंदबाजी के बाद डेथ ओवर में भी आरसीबी ने बेहतरीन प्रदर्शन किया और लंबे इंतजार के बाद चिन्नास्वामी स्टेडियम में जीत का जश्न मना।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned