खेतों में जाकर किसानों के साथ संवाद करेंगे सीएम

खेतों में जाकर किसानों के साथ संवाद करेंगे सीएम

Shankar Sharma | Publish: Sep, 02 2018 10:45:46 PM (IST) | Updated: Sep, 02 2018 10:45:47 PM (IST) Bangalore, Karnataka, India

विभिन्न समस्याओं से जूझ रहे किसानों में आत्मविश्वास भरने के लिए मुख्यमंत्री एच.डी. कुमारस्वामी राज्य के विभिन्न जिलों के किसानों के साथ संवाद करेंगे।

बेंगलूरु. विभिन्न समस्याओं से जूझ रहे किसानों में आत्मविश्वास भरने के लिए मुख्यमंत्री एच.डी. कुमारस्वामी राज्य के विभिन्न जिलों के किसानों के साथ संवाद करेंगे। प्रशासनिक सूत्रों के मुताबिक मुख्यमंत्री राज्य में इजराइल की तर्ज पर सिंचाई व्यवस्था को प्रोत्साहित करेंगे। जो किसान सिंचाई के लिए केवल बारिश पर निर्भर हैं, उनके साथ खेतों में जाकर संवाद करने का फैसला किया है।

सप्ताह में चार दिन मुख्यमंत्री विधानसौधा में प्रशासनिक कार्य निपटाएंगे। उससे पश्चात एक दिन जिला मुख्यालय का दौरा करेंगे। इस दौरान जिला मुख्यालयों में होनेवाली बैठकों में ही जिले की समस्याओं का समाधान किया जाएगा। इस दौरान जिले के किसानों के साथ संवाद के लिए 5 से 7 घंटे तक समय निर्धारित होगा।


शहर में शनिवार को आयोजित जनता दर्शन कार्यक्रम में भाग लेने से पहले मुख्यमंत्री ने कहा कि वे सप्ताह में एक दिन चयनित जिला मुख्यालय का दौरा करेंगे। इस दौरान जिला मुख्यालयों में होनेवाली बैठकों में ही जिले की समस्याओं का समाधान किया जाएगा। इस दौरान किसानों को कृषि क्षेत्र में हो रहे बदलावों सटीक जानकारी दी जाएगी। जब वे बेंगलूरु में होंगे तब हर शनिवार को आवासीय मुख्यालय कृष्णा में जनता दर्शन कार्यक्रम होगा।


शनिवार को एक सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा कि वे 10 सितम्बर से लेकर 15 सितम्बर तक उत्तर कर्नाटक के विभिन्न जिलों का दौरा कर जन संवाद कर समस्याओं के समाधान का प्रयास करेंगे। एक अन्य सवाल के जवाब जमें मुख्यमंत्री ने कहा कि उनके निजी चिकित्सकों ने उनको गांवों में प्रवास करने की अनुमति नहीं दी है। लिहाजा उनके लिए ऐसा कार्यक्रम करना अब संभव नहीं है।


जनता दर्शन कार्यक्रम में उमड़ा जन सैलाब
शनिवार को आयोजित जनता दर्शन कार्यक्रम में जनसैलाब उमड़ा। इस दौरान सैकड़ों लोगों ने समस्याओं के समाधान के लिए मुख्यमंत्री को आवेदन सौंपे। जनता दर्शन में पहुंचे दिव्यांगों के लिए विशेष प्रबंध किए गए थे। ऐसे लोगों के लिए निर्धारित स्थान पर स्वयं पहुंचकर मुख्यमंत्री ने उनके आवेदन प्राप्त किए। कई लोगों की समस्याओं के समाधान के लिए मुख्यमंत्री ने वहां मौजूद समाज कल्याण, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, महिला एवं बाल विकास समेत अन्य प्रशासनिक अधिकारियों को निर्देश दिए। भीड़ को नियंत्रित करने के लिए अतिरिक्त सुरक्षा कर्मचारी तैनात किए गए थे।

कई फरियादियों को मिली मौके पर मदद
जनता दर्शन के दौरान मुख्यमंत्री ने कई लोगों को मौके पर आर्थिक मदद भी की। तुमकूरु जिले की सिरा तहसील से तीन माह के बच्चे के साथ पहुंची नागवेणी नामक महिला को कुमारस्वामी ने चिकित्सा खर्चे के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष से 2 लाख रुपए का चेक सौंपा। मण्ड्या जिले के हुलियाल गांव से आए किसान रामय्या को मदद करने के लिए मुख्यमंत्री ने जिले के जिलाधिकारी को फोन पर निर्देश दिए। रक्त कैंसर से पीडि़त एक बच्चे के इलाज के लिए मुख्यमंत्री ने इंदिरा गांधी अस्पताल को निर्देश देने के साथ ही १० हजार रुपए का चेक भी दिया। मण्ड्या जिले की एक महिला की शिकायत पर मुख्यमंत्री ने विक्टोरिया अस्पताल के चिकित्सकों को बेहतर उपचार करने के निर्देश दिए। साथ ही फरियादी से कहा कि वे सोमवार को उसके पति को देखने के लिए अस्पताल आएंगे व ५० हजार की मदद दी।

जनता दर्शन में पहुंचे विधायक
जनता दर्शन में पहुंचे विजयपुर जिले के विधायक एम.वाई. पाटिल को देखकर मुख्यमंत्री चकित रहे गए। विधायक पाटिल ने मुख्यमंत्री से उनके लिए बेंगलूरु शहर में आवास बनाने के लिए भूखंड आवंटित करने की मांग रखी। इस पर मुख्यमंत्री ने विचार-विमर्श करने का आश्वासन दिया।

पुलिस कर्मचारी ने दिखाई संवेदना
मुख्यमंत्री के जनता दर्शन कार्यक्रम में भाग लेने के रामनगर जिले के चन्नपट्टणा गांव से आए एक दिव्यांग यूसूफ शब्बीर के दोनों पैर नहीं थे, वह मुख्यमंत्री के पास पहुंचने का प्रयास कर रहा था। उसकी यह हालत देख कर वहां सुरक्षा के लिए तैनात पुलिस कांस्टेबल बालाजी ने उसे उठाकर मुख्यमंत्री के समक्ष पेश किया।

Ad Block is Banned