scriptCNR Rao Lifetime Achievement Award to Dr. Hegde, Anantharamu | कर्नाटक : डॉ. हेगड़े, अनंतरामू को सीएनआर राव लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड | Patrika News

कर्नाटक : डॉ. हेगड़े, अनंतरामू को सीएनआर राव लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड

- विज्ञान, प्रौद्योगिकी के दरवाजे सभी के लिए खुले हों : अश्वथ

बैंगलोर

Updated: February 23, 2022 10:48:41 pm

बेंगलूरु. कर्नाटक विज्ञान और प्रौद्योगिकी अकादमी ने डॉ. बी.एम. हेगड़े और विज्ञान लेखक टी.आर. अनंतरामू को 'सीएनआर राव लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड' 2021 (CNR Rao Lifetime Achievement Award) से जबकि निट्टे विश्वविद्यालय के डॉ. इद्या करुणासागर को लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से सम्मानित किया।

कर्नाटक : डॉ. हेगड़े, अनंतरामू को सीएनआर राव लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड

विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री डॉ. सी. एन. अश्वथनारायण ने मंगलवार को जीकेवीके परिसर में आयोजित एक समारोह में पुरस्कार प्रदान किए।
प्रधानमंत्री के वैज्ञानिक सलाहकार डॉ. के. विजयराघवन, बायोकॉन की अध्यक्ष डॉ. किरण मजूमदार शॉ, लेखक सुधा मूर्ति, मैसूरु विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. जी. हेमंत कुमार, कलबुर्गी विश्वविद्यालय के कुलपति दयानंद अगासर और रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन के टेसी थॉमस सहित कुल 40 लोगों को अकादमी की फैलोशिप प्रदान की गई।

मंत्री ने कहा कि यदि निर्णायक शोधों के परिणाम बड़े पैमाने पर जनता तक नहीं पहुंचते हैं तो इसका कोई फायदा नहीं है। विज्ञान और प्रौद्योगिकी के दरवाजे सभी के लिए खुले होने चाहिए। विज्ञान और प्रौद्योगिकी अकादमी को जन केंद्रित वैज्ञानिक संस्कृति बनाने में अग्रणी भूमिका निभानी चाहिए।

उन्होंने बताया कि राज्य के आगामी बजट में सार्वजनिक और निजी सहयोग से चलाए जाने वाले कई कार्यक्रमों की घोषणा की जाएगी।
डॉ. विजयराघवन और सुधा मूर्ति ने सभी को ऑनलाइन संबोधित किया। इस अवसर पर अकादमी के कई प्रकाशनों का विमोचन भी किया गया।


स्वास्थ्य मंत्री ने किया ऑक्सीजन प्लांट का उद्घाटन

बेंगलूरु. स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ. के. सुधाकर ने मंगलवार को मल्लेश्वरम स्थित केसी जनरल अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट (1000 किलोलीटर) का उद्घाटन किया।

उन्होंने कहा कि शहर के केंद्र में स्थित इस अस्पताल जरूरतमंद मरीजों का सराहा है। सबसे अधिक मांग वाले अस्पतालों में से एक है। इसलिए सरकार इसे विकसित व आधुनिक स्वास्थ्य सुविधाओं से लैस करने के प्रयास में लगी है। उल्लेखनीय बदलाव भी हुए हैं। जयेदव इस्टीट्यूट ऑफ कार्डियोवैस्क्यूलर साइंसेस एंड रिसर्च के सहयोग से अस्पताल में 50 बिस्तर की कैथलैब सेवा उपलब्ध है। पीडियाट्रिक आइसीयू स्थापित की जारी है, जिसमें 50 बिस्तर होंगे। मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य देखभाल ब्लॉक में बिस्तरों की क्षमता 200 तक बढ़ाने का प्रस्ताव विचाराधीन है।

मंत्री ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर ने हर वर्ग व क्षेत्र को प्रभावित किया। सरकार के लिए इससे निपटना आसान नहीं था। विशेषकर फ्रंटलाइन वर्कर्स के सहयोग के बिना यह संभव नहीं था।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

सीएम Yogi का बड़ा ऐलान, हर परिवार के एक सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरीचंडीमंदिर वेस्टर्न कमांड लाए गए श्योक नदी हादसे में बचे 19 सैनिकआय से अधिक संपत्ति मामले में हरियाणा के पूर्व CM ओमप्रकाश चौटाला को 4 साल की जेल, 50 लाख रुपए जुर्माना31 मई को सत्ता के 8 साल पूरा होने पर पीएम मोदी शिमला में करेंगे रोड शो, किसानों को करेंगे संबोधितराहुल गांधी ने बीजेपी पर साधा निशाना, कहा - 'नेहरू ने लोकतंत्र की जड़ों को किया मजबूत, 8 वर्षों में भाजपा ने किया कमजोर'Renault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चIPL 2022, RR vs RCB Qualifier 2: राजस्थान ने बैंगलोर को 7 विकेट से हराया, दूसरी बार IPL फाइनल में बनाई जगहपूर्व विधायक पीसी जार्ज को बड़ी राहत, हेट स्पीच के मामले में केरल हाईकोर्ट ने इस शर्त पर दी जमानत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.