कोविड के मामले बढऩे पर फिर बंद हो सकते हैं कॉलेज : मंत्री

  • विद्यार्थियों के हितों की रक्षा सरकार की भी जिम्मेदारी

By: Nikhil Kumar

Published: 22 Nov 2020, 07:24 PM IST

 

 

बेंगलूरु. कर्नाटक में डिग्री और इंजीनियरिंग कॉलेज खुलने के छठे दिन रविवार को चिकित्सा और स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. के. सुधाकर ने कहा कि कोविड के मरीज बढऩे पर कॉलेज फिर से बंद किए जा सकते हैं। वे रविवार को धारवाड़ में विद्यार्थियों में बढ़ते कोरोना वायरस संक्रमण संबंधित एक सवाल का जवाब दे रहे थे। उन्होंने पत्रकारों के अन्य सवालों के जवाब में कहा कि मीडिया रिपोर्ट के अनुसार कॉलेज फिर से शुरू होने के बाद 120-130 विद्यार्थी कोविड पॉजिटिव मिले हैं। पूरे मामले पर उन्होंने वरिष्ठ अधिकारियों से रिपोर्ट मांगी है।

डॉ. सुधाकर ने कॉलेज शुरू करने के निर्णय को सही ठहराते हुए कहा कि युवाओं में प्रतिरोधक क्षमता होती है। हालांकि, इसका मतलब यह नहीं है कि युवा संक्रमित नहीं होंगे। विद्यार्थियों के हितों की रक्षा सरकार की भी जिम्मेदारी है। इसलिए शिक्षण संस्थान एक साथ नहीं बल्कि चरणबद्ध तरीके से खोले जा रहे हैं।

उच्च शिक्षा विभाग के अधिकारियों के अनुसार कई विद्यार्थी ऑनलाइन कक्षा से लाभान्वित नहीं हो पा रहे हैं। मोबाइल, कम्प्यूटर, लैपटॉप और इंटरनेट तक पहुंच नहीं होने के कारण भी कई विद्यार्थी ऑनलाइन शिक्षा से वंचित हुए हैं। कई क्षेत्रों में इंटरनेट सेवा काफी खराब हैं। कई कॉलेजों के शिक्षक व अन्य कर्मचारी नौकरी खो रहे थे। इन समस्याओं से निपटने के लिए कॉलेज शुरू करने का निर्णय लिया गया।

Nikhil Kumar Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned