आवास योजनाओं पर आंदोलन की तैयारी में कांग्रेस

प्रदेश कांग्रेस ने जनहित की मांगों के पूरा नहीं होने की स्थिति में राज्यव्यापी आंदोलन की चेतावनी दी है

By: Saurabh Tiwari

Published: 09 Jan 2020, 06:24 PM IST

बेंगलूरु. प्रदेश कांग्रेस ने जनहित की मांगों के पूरा नहीं होने की स्थिति में राज्यव्यापी आंदोलन की चेतावनी दी है। बुधवार को कांग्रेस कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष ईश्वर खंड्रे ने कहा कि राज्य सरकार ने विभिन्न आवासीय योजनाओं को 15 दिनों के अंदर अनुदान जारी नहीं किया तो संघर्ष किया जाएगा।

उन्होंने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि सरकार ने विभिन्न आवासीय योजनाओं के लिए जारी अनुदान को रोक रखा है। इससे भ्रष्टाचार को बढ़ावा मिल रहा है। दलाल और अधिकारी और निर्माणाधीन आवासों को अनुदान जारी कराने के बहाने लाभार्थियों से रिश्वत ले रहे हैं। साल 2013 से लेकर 2018 और कांग्रेस तथा जनता दल-एस की गठबंधन सरकार ने कुल 16 लाख 38 हजार 564 आवास निर्मित करने का लक्ष्य रखा था। बसव योजना में 10 लाख, आंबेडकर योजना में 5.73 लाख, वाजपेयी आवास योजना में 63 हजार और प्रधानमंत्री आवास योजना में 13.97 लाख आवास को मंजूरी मिली है। उनमें 7 लाख, 43 हजार 935 आवास का निर्माण कार्य पूरा हो चुका है। 3.63 लाख आवास का निर्माण जारी है। 1.36 लाख आवास का निर्माण आरंभ नहीं हुआ। 2.07 लाख आवासों को मंजूरी नहीं दी जा रही है। गत आठ माह से सरकार ने राशि जारी नहीं की।

आवास मंत्री वी. सोमण्णा ने विभिन्न योजनाों में लाभार्थियों का चयन करने में भ्रष्टाचार होने का आरोप लगाकर अनुदान रोका गया है। इससे बेघर लोग फुटपाथ पर आ गए हैं। कई लोगों ने निजी क्षेत्र से कर्ज लेकर घर बनवा रहे हैं। उन्होंने कहा कि 16 लाख से अधिकलाभार्थियों का चयन करने में अगर कोई भ्रष्टाचार हुआ है तो इसकी जांच करवा कर दोषी अधिकारियों और दलालों के खिलाफ कार्रवाई की जाए। भ्रष्टाचार के नाम पर अनुदान रोकना कहां का न्याय है। हकीकत क्या है, इसका जवाब सोमण्णा को देना होगा। सरकार की आर्थिक स्थिति खस्ता है। उसी कारण अनुदान राशि रोकी गई है।

Saurabh Tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned