उल्लाल में तीन दशकों में पहली बार बहुमत से दूर रही कांग्रेस

उल्लाल में तीन दशकों में पहली बार बहुमत से दूर रही कांग्रेस

Ram Naresh Gautam | Publish: Sep, 04 2018 06:38:39 PM (IST) Bengaluru, Karnataka, India

दक्षिण कन्नड़ और उडुपी के अधिकांश निकायों में भाजपा को सफलता

मेंगलूरु. दक्षिण कन्नड़ और उडुपी जिले के सात शहरी निकायों के चुनाव परिणाम के बाद जहां पुत्तूर नगर परिषद (सीएमसी) और कुंदापुर सीएमसी में भाजपा को स्पष्ट बहुमत पाने में सफल रही है, वहीं बंटवाल, उल्लाल और कारकल में त्रिशंकु जनादेश है। इसी प्रकार उडुपी सीएमसी में जहां भाजपा को 31 सीटों पर जीत मिली है, वहीं कांग्रेस के खाते में मात्र 4 सीटें आई हैं। सालिग्राम टीएमसी में भाजपा सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी है।
विधानसभा चुनाव के दौरान धर्मनिरपेक्ष दलों को समर्थन करने के दावे के साथ चुनाव मैदान से दूर रही एसडीपीआइ ने इस बार तटीय जिले में चुनाव लडऩे का फैसला किया था। एसडीपीआइ के इस निर्णय से बंटवाल और उल्लाल सीएमसी में बड़ा उलटफेर हुआ है और कांग्रेस दोनों जगहों पर मात्र तीन सीटों से पूर्ण बहुमत से चूक गई।

उल्लाल को राज्य के शहरी विकास मंत्री यूटी खादर का गढ़ माना जाता है और चुनाव परिणाम से कांग्रेस के साथ ही खादर को भी बड़ा झटका लगा है, क्योंकि पिछले तीन दशकों में यह पहला मौका है जब यहां कांग्रेस को पूर्ण बहुमत नहीं मिला है। इस बीच खादर ने कहा कि एसडीपीआइ से उनकी पार्टी समर्थन नहीं लेगी। इसी प्रकार बंटवाल में कांग्रेस नेता रमानाथ रई को बड़ा झटका लगा है, क्योंकि यहां कांग्रेस 27 में से सिर्फ 12 सीटों पर जीत हासिल कर पाई।

31 सीटों वाले पुत्तूर सीएमसी में भाजपा के खाते में 25 सीटें आईं, जबकि कांग्रेस सिर्फ 5 सीटों पर जीत पाई। यहां भी एसडीपीआइ का खाता खुला और पार्टी के एक उम्मीदवार को जीत मिली। कुंदापुर टीएमसी में भाजपा ने 23 से 14 सीटों पर जीत हासिल कर स्पष्ट बहुमत हासिल किया, कांग्रेस सिर्फ 8 सीटों पर जीती। 16 सदस्यीय सालिग्राम में भाजपा को 10, कांग्रेस को सिर्फ 5 सीटों पर जीत मिली।

टॉस से जीते भाजपा उम्मीदवार
उल्लाल के वार्ड 16 में कांग्रेस और भाजपा दोनों के उम्मीदवारों को 370 वोट आने से चुनाव परिणाम टाई हो गया। बाद में ड्रा निकाला गया और टॉस द्वारा परिणाम तया हुआ। इसमें भाजपा उम्मीदवार राजेश कुमार भाग्यशाली रहे और टॉस का परिणाम उनके पक्ष में चला गया।

Ad Block is Banned