कांग्रेस-जेडीएस समन्वय समिति की बैठक कल

कांग्रेस-जेडीएस समन्वय समिति की बैठक कल

Sanjay Kumar Kareer | Publish: Jun, 29 2018 08:12:39 PM (IST) Bengaluru, Karnataka, India

दोनों दलों के बीच उभरे मतभेद के सुलझ जाने के कारण वेणुगोपाल के कार्यक्रम में बदलाव हो गया

बेंगलूरु. कांग्रेस-जेडीएस दलों के समन्वय व निगरानी समिति की बैठक रविवार को बेंगलूरु के कुमार कृपा अतिथि गृह में अपराह्न 3 बजे होगी। बैठक में न्यूनतम साझा कार्यक्रम के मसौदे के साथ ही जिला प्रभारी मंत्रियों और निगम-मंडलों में नियुक्तियों, मंत्रिमंडल विस्तार और 5 जुलाई को पेश होने वाले बजट पर चर्चा होगी।

सिद्धरामय्या समिति के अध्यक्ष हैं जबकि जद-एस के राष्ट्रीय महासचिव कुंवर दानिश अली इसके संयोजक हैं। समिति की यह दूसरी बैठक होगी। पहली बैठक 14 जून को हुई थी जिसमें न्यूनतम साझा कार्यक्रम के लिए समिति बनाने का फैसला लिया गया था। समिति में इसके अलावा मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी, उपमुख्यमंत्री परमेश्वर और प्रदेश कांग्रेस प्रभारी के सी वेणुगोपाल शामिल हैं।

 

आज आएंगे वेणुगोपाल
वेणुगोपाल शनिवार को बेंगलूरु पहुंचेंगे और समन्वय समिति की बैठक से पहले पार्टी नेताओं के साथ मंत्रिमंडल विस्तार सहित अन्य मसलों पर बातचीत करेंगे। पहले वेणुगोपाल को शुक्रवार को ही बेंगलूरु आना था लेकिन दोनों दलों के बीच उभरे मतभेद के सुलझ जाने के कारण उनके कार्यक्रम में बदलाव हो गया।

 

सिद्धू से मिले कई नेता
उधर, शुक्रवार को मंत्री के.जे. जार्ज सहित कई नेताओं ने सिद्धरामय्या से उनके आवास पर जाकर मुलाकात की। इन नेताओं में पूर्व मंत्री एन चलुवरायस्वामी, आइवन डिसूजा, राघवेंद्र हित्नाल आदि शामिल हैं। जार्ज ने बाद में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि वे लोग सिद्धरामय्या का कुशलक्षेम पूछने गए थे। सिद्धरामय्या प्राकृतिक चिकित्सा केंद्र से छुट्टी मिलने के बाद गुरुवार शाम बेंगलूरु लौटे थे।

न्यूनतम साझा कार्यक्रम पर चर्चा
प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में हुई बैठक में कांग्रेस नेताओं ने गठबंधन सरकार के न्यूनतम साझा कार्यक्रम पर चर्चा की। बताया जाता है कि बैठक में शामिल नेताओं ने कहा कि कार्यक्रम में पिछली सरकार की योजनाओं व कार्यक्रमों को शामिल किए जाने पर जोर दिया गया। बैठक में मौजूद न्यूनतम साझा कार्यक्रम उप समिति के अध्यक्ष एम वीरप्पा मोइली नेताओं ने दबाव डाला कि आगामी लोकसभा चुनाव व स्थानीय निकायों के चुनावों के मद्देनजर पार्टी संगठन को मजबूत करने के लिए पार्टी के कार्यक्रमों का लाभ लोगों तक पहुंचाना जरूरी है तभी हम अच्छी संख्या में सीटें जीत सकते हैं।

समन्वय समिति की बैठक में जद-एस के नेता एच डी रेवण्णा व अन्य नेता हमारे कार्यक्रमों को शामिल नहीं करने पर जोर दे सकते हैं लिहाजा वे बिना झुके हमारे कार्यक्रमों को कार्यक्रम में शामिल करें। मंत्रियों व नेताओं की इस बात का परमेश्वर और सिद्धरामय्या ने भी समर्थन किया। बैठक में मंत्री डी. के. शिवकुमार, आर.वी. देशपांडे ने भी भाग लिया।

 

सबको मिलकर चलना है : शिवकुमार
एक दिन पहले गठबंधन सरकार के खिलाफ टिप्पणियों को लेकर सिद्धरामय्या की आलोचना करने वाले जल संसाधन मंत्री शिवकुमार ने कहा कि सबको मिलकर चलना है। हालात को समझते हुए हमें एक-दूसरे के साथ सामंजस्य बनाना होगा। सिद्धरामय्या के नेतृत्व में समन्वय समिति बनी हुई है और दोनों मिलकर सरकार को अच्छे से चलाएंगे।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned