कांग्रेस नेताओं पर पुराने नोट बदलवाने का आरोप

कांग्रेस नेताओं पर पुराने नोट बदलवाने का आरोप

Sanjay Kumar Kareer | Publish: Jun, 30 2018 09:23:18 PM (IST) | Updated: Jun, 30 2018 09:24:17 PM (IST) Bengaluru, Karnataka, India

भाजपा के नगर प्रवक्ता एन.आर.रमेश ने आरोप लगाया

बेंगलूरु. भाजपा के नगर प्रवक्ता एन.आर.रमेश ने आरोप लगाया कि कांग्रेस के कई मंत्री और नेताओं ने 410 करोड़ के पुराने नोट बेंगलूरु वन केंद्रों में बदलवाए। इस सिलसिले में सीबीआइ, प्रवर्तन निदेशालय, एसीबी और लोकायुक्त में शिकायत की है।

उन्होने शनिवार को कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धरामय्या, बृहद उद्योग मंत्री के.जे.जार्ज और विधायक बैरती बसवराज समेत कई नेताओं ने नोटबंदी के बाद 410 करोड़ रुपए से अधिक पुराने नोट बेंगलूरु वन केंद्रों में देकर नए नोट प्राप्त किए थे। इस मामले में बेंगलूरु वन केन्द्रों की निगरानी कर रही सीएमएस कंप्यूटर्स लिमिटेड कंपनी के मालिक भी शामिल है। 9 नवंबर से 31 मार्च 2017 तक 141 दिन मेंं 410 करोड़ रुपए के पुराने नोट देकर नए नोटों मेंं परिवर्तन कराया गया।

--------

सीबीआई विशेष न्यायालय का अग्रिम जमानत से इनकार

कार्पोरेशन बैंक के अधिकारियों के साथ मिल कर 10.48 लाख रुपए सफेद करने के आरोप

बेेंंगलूरु. सीबीआई विशेष न्यायालय ने काले धन के 10.48 लाख रुपए सफेद करने के छह आरोपियों को अग्रिम जमानत देने से इनकार किया।
नोटबंदी के बाद राम नगर कार्पोरेशन बैंक के अधिकारियों के साथ मिल कर 10.48 लाख रुपए सफेद करने के आरोप में गिरफ्तार कनकपुर तहसीलदार कार्यालय के प्रथम श्रेणी सहायक एन.नंजप्पा, टी.पद्मनाभय्या, शिवानंद, ए.शेषागिरी, तम्म्यया और पद्मरेखा ने जमानत के लिए याचिका दाखिल की थी।

सीबीआी विशेष न्यायालय की न्यायाधीश एचटी पुष्पांजली देवी ने याचिका को खारिज कर दिया। न्यायाधीश ने कहा कि आरोपियों ने देश की आर्थिक व्यवस्था पर काला दाग लगाया है। मामले की जांंच अभी पूरी नहीं हुई है। जमानत दी गई तो वे सबूतों को नष्ट कर सकते है। इसलिए जमानत नहीं दी जा सकती।

 

मामला क्या है
केन्द्र सरकार ने 8 नवंबर 2016 को 500 और 1000 के नोटों पर प्रतिबंध लगाया था। इस अवसर पर 14 नबंबर 2016 को आरोपियों ने 10.48 लाख रुपए राम नगर कार्पोरेशन बैंक के प्रबंधक प्रकाश की सहायता से सफेद किए। सीबीआइ ने 7 अप्रेल 2017 को प्रकाश समेत 8 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया और जांच कर रही है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned