विधेयक का समर्थन करे कांग्रेस : प्रभु

बजट सत्र में फिर पेश होगा विधायक

By: Santosh kumar Pandey

Published: 29 Dec 2020, 03:29 PM IST

बेंगलूरु. पशुपालन मंत्री प्रभु चव्हाण ने कहा कि गो-वंश की रक्षा के लिए ही कर्नाटक पशुवध प्रतिबंध तथा संरक्षण विधेयक 2020 विधानसभा में पारित किया गया था। इस विधेयक को कांग्रेस पार्टी के असहयोग के कारण विधान परिषद में पारित करना संभव नहीं होने कारण राज्य सरकार ने अध्यादेश लाने का फैसला किया है।

संवेदनशील मामले पर दलगत राजनीति नहीं हो

आगामी बजट सत्र के दौरान यह विधेयक फिर विधान परिषद में पेश किया जाएगा। गोवंश की रक्षा तथा संवर्धन जैसे संवेदनशील मामले पर दलगत राजनीति नहीं होनी चाहिए। गुजरात तथा उत्तर प्रदेश में गोवंश की वृद्धि के लिए किए गए उपाय कारगर साबित होने के कारण राज्य में भी ऐसे प्रयोग दोहराए जाएंगे।

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि जब वर्ष 2010 में तत्कालीन भाजपा सरकार ने ऐसा विधेयक पारित किया था तब केंद्र की तत्कालीन कांग्रेस के नेतृत्ववाली संप्रग सरकार ने इस कानून पर कई आपत्तियां दर्ज की थी। नए विधेयक में ऐसी आपत्तियों का समाधान किया गया है। लिहाजा कांग्रेस को विधान परिषद में इस विधेयक का समर्थन करना चाहिए।

Santosh kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned