कांग्रेस अकेले लड़ेगी विधानसभा चुनाव :सीएम

कांग्रेस अकेले लड़ेगी विधानसभा चुनाव :सीएम

Sanjay Kumar Kareer | Updated: 05 Jan 2018, 11:24:22 PM (IST) Bangalore, Karnataka, India

अगले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस किसी राजनीतिक दल के साथ गठबंधन करने के बजाय अपने बल पर ही चुनाव लड़ेगी।

हासन. अगले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस किसी राजनीतिक दल के साथ गठबंधन करने के बजाय अपने बल पर ही चुनाव लड़ेगी। इससे पहले पार्टी की ओर से विभिन्न राजनीतिक दलों के साथ राष्ट्रीय स्तर पर किया गया महा गठबंधन कर्नाटक में जरूरी नहीं है। मुख्यमंत्री सिद्धरामय्या ने यह बात कही।

मुख्यमंत्री ने यहां शुक्रवार को कहा कि महागठबंधन को लेकर माकपा नेता सीताराम येचुरी का बयान राष्ट्रीय संदर्भ में है। राष्ट्रीय स्तर पर सांप्रदायिक ताकतों से संघर्ष के लिए ऐसा महागठबंधन आवश्यक है लेकिन राज्य में कांग्रेस को किसी दल से गठबंधन की आवश्यकता नहीं है।

उन्होंने कहा कि दीपक राव की हत्या के मामले में वनमंत्री रमानाथ रै का हाथ होने का आरोप बेबुनियाद है। बीएस येड्डियूरप्पा से ऐसे गैरजिम्मेदाराना बयान की अपेक्षा नहीं थी। इस मामले की जांच जारी है। पीएफआई तथा एसडीपीआई संगठनों पर प्रतिबंध के बारे में मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले इस मामले की जांच के नतीजे सामने आने चाहिए।

एनआईए से जांच पर कोई आपत्ति नहीं : गृहमंत्री

बेंगलूरु. दीपक राव हत्याकांड की राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी (एनआईसे) जांच पर सरकार को आपत्ति नहीं है। गृहमंत्री रामलिंगा रेड्डी ने यह बात कही है। जिला मुख्यालय बागलकोटे में शुक्रवार को उन्होंने कहा कि एनआईए, सीबीआई तथा राज्य की पुलिस तीनों पर उन्हे पूरा भरोसा है। अगर एनआईए इस मामले की जांच करना चाहती है तो हर संभव सहयोग दिया जाएगा।

पीएफआई तथा एसडीपीआई संगठन पर प्रतिबंध के बारे में उन्होंने कहा कि राज्य सरकार के सामने अभी ऐसा कोई प्रस्ताव नहीं है। मुख्यमंत्री के दौरे से लौटने पर इस मामले पर उनके साथ विचार-विमर्श करेंगे।

उन्होंने कहा कि पीएफआई के साथ प्रतिबंध की मांग करनेवाली भाजपा ने ही एक ग्राम पंचायत में इस संगठन के साथ हाथ मिलाकर सत्ता हासिल की है। जबकि कांग्रेस ने पीआईएफ के साथ कोई गठबंधन नहीं किया है।

रेड्डी ने कहा कि तटीय कर्नाटक में सांप्रदायिक उन्माद फैलाने के लिए पीएफआई के साथ संघ परिवार से जुड़े संगठन भी समान रूप से जिम्मेदार हैं। जब भी चुनाव नजदीक आते हैं तो ऐसे भावनात्मक मुद्दे उछालना भाजपा की पुरानी आदत है। कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए आवश्यक सभी कदम उठाएं जाएंगे।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned