कांग्रेस का अगली सरकार बनाना तय: परमेश्वर

कांग्रेस का अगली सरकार बनाना तय: परमेश्वर

Sanjay Kumar Kareer | Publish: May, 14 2018 01:34:54 AM (IST) Bangalore, Karnataka, India

कांग्रेस विधायक दल की बैठक के बारे में पार्टी आलाकमान निर्णय करेगा

बेंगलूरु. प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डी. जी. परमेश्वर ने पूरे विश्वास के साथ कहा कि पार्टी 224 सदस्यीय विधानसभा की 113 सीटों का जादुई आकंड़ा पार कर सत्ता में वापसी करेगी। परमेश्वर ने रविवार को यहां कहा कि पार्टी कार्यकर्ताओं, नेताओं व उम्मीदवारों से मिले फीड बैक के आधार पर वे आश्वस्त हैं कि पार्टी 113 सीटों का जादुई आंकड़ा पार कर लेगी। उन्होंने त्रिशंकु जनादेश के बारे में पूछे गए सवालों का जवाब देने से इनकार कर दिया।

परमेश्वर ने कहा कि वे पूर्व मुख्यमंत्री एच.डी. कुमारस्वामी व पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा की कड़ी आलोचना करते रहे हैं। लेकिन कभी कोई व्यक्तिगत प्रहार नहीं करते। उन्होंने कहा कि नए कांग्रेस विधायक दल की बैठक के बारे में पार्टी आलाकमान निर्णय करेगा। यह बैठक 16 मई को भी हो सकती है। यह पूछने पर कि क्या कांग्रेस किसी दलित नेता को अगले मुख्यमंत्री के तौर पर पेश करेगी तो परमेश्वर ने कहा कि इसका निर्णय पार्टी आलाकमान व कांग्रेस विधायक दल करेगा।

दलित नहीं कांग्रेस कार्यकर्ता के रूप में मुख्यमंत्री पद स्वीकार- खरगे

कलबुर्गी. लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खरगे ने आज कहा कि वह दलित नेता नहीं बल्कि कांग्रेस कार्यकर्ता के तौर पर कर्नाटक में मुख्यमंत्री पद स्वीकार करने को तैयार हैं।

मुख्यमंत्री सिद्धरामय्या के बयान पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस कार्यकर्ता के रूप में यदि उन्हें यह सम्मान मिले तो इसे स्वीकार कर लेंगे लेकिन एक दलित होने की वजह से उन्हें मुख्यमंत्री की कुर्सी मिले तो इसे वह स्वीकार नहीं कर सकते। श्री सिद्दारामैया ने कहा था कि यदि दलित नेता को कांग्रेस मुख्यमंत्री बनाती है तो वह पद छोडऩे को तैयार है।

खरगे ने कहा कि सिद्धरामय्या या किसी अन्य नेता को मेरे दलित होने की वजह से अपना बलिदान देने की आवश्यकता नहीं है। मुझे जब वरिष्ठ कांग्रेस नेता और पार्टी के एक कार्यकर्ता के रूप में सम्मान दिया जाएगा तो मैं मुख्यमंत्री पद लेने को तैयार हूं।

कर्नाटक की राजनीति में खरगे को सम्मानित नेता के रूप में देखा जाता है। जनता में भी उनकी छवि बहुत ही अच्छी है। वह गुलबर्गा से सांसद हैं और लोकसभा में कांग्रेस के नेता हैं। उन्होंने कहा राज्य में सिर्फ एक ही मुख्यमंत्री होता है। संविधान किसी दलित मुख्यमंत्री, वोकलिंगा मुख्यमंत्री, लिंगायत मुख्यमंत्री या करबा मुख्यमंत्री के रूप में पहचान नहीं देता है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned