कांग्रेस ने किया विधानसभा से बहिगर्मन

टुकड़े-टुकड़े गैंग पर सत्ता पक्ष और विपक्ष के बीच तीखी तकरार
नेता प्रतिपक्ष सिद्धरामय्या ने उठाया था कानून-व्यवस्था का मुद्दा

बेंगलूरु.
नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) के मुद्दे पर तीखी नोंक-झोंक के बाद मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस ने विधानसभा से बहिर्गमन किया। नेता प्रतिपक्ष सिद्धरामय्या ने आरोप लगाया कि उन्हें इन ज्वलंत मुद्दों पर चर्चा की अनुमति नहीं दी जा रही है।
सदन की कार्यवाही शुरू होने से पहले ही मंगलवार को सिद्धरामय्या ने सीएए और एनआरसी के खिलाफ हो रहे विरोध प्रदर्शनों के मद्देनजर कानून-व्यवस्था की बिगड़ती स्थिति पर चर्चा के लिए नोटिस दिया था। इसपर विधानसभा अध्यक्ष विश्वेश्वर हेगड़े कागेरी ने प्रारंभिक चर्चा की अनुमति दी। सिद्धरामय्या ने सदन में इन विषयों को उठाते हुए कहा कि सत्तारूढ़ भाजपा पुलिस प्रशासन का दुरुपयोग कर रही है। उन्होंने मेंगलूरु हिंसा में मारे गए दो लोगों और देशद्रोह के मामले दर्ज किए जाने पर भी सरकार को कटघरे में खड़ा किया और कहा कि राज्य सरकार अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का हनन कर रही है।
इसपर गृहमंत्री बसवराज बोम्मई ने हस्तक्षेप करते हुए आरोप लगाया कि अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता छीनने वाली और लोकतंत्र की मर्यादा खत्म करने वाली कांग्रेस पार्टी है जिसने देश में आपातकाल लागू किया। उन्होंने सिद्धरामय्या से सवाल किया कि 'क्या अब कांग्रेस को चेतना आ गई है और उसे आपातकाल लागू करने का पछतावा है।Ó इस मुद्दे को लेकर दोनों पक्षों में तीखी नोंक-झोंक शुरू हो गई। कांग्रेस की ओर से सिद्धरामय्या के साथ प्रियांक खरगे, केजे जॉर्ज और रामलिंगा रेड्डी खड़े हुए दूसरी तरफ सत्ता पक्ष की ओर से पर्यटन मंत्री सीटी रवि और ग्रामीण विकास मंत्री केएस ईश्वरप्पा गृहमंत्री बसवराज बोम्मई के साथ इस गर्मा-गर्म बहस में शामिल हुए। ईश्वरप्पा ने आपातकाल का जिक्र करते हुए कांग्रेस पर तीखे हमले किए तो जवाब में सिद्धरामय्या ने कहा कि आपातकाल तो 1975 में लागू हुआ था लेकिन अभी अघोषित आपातकाल लागू है।
इसपर गृहमंत्री बसवराज बोम्मई ने कहा कि कांग्रेस 'टुकड़े-टुकड़े गैंगÓ का ही एक हिस्सा है। इसपर प्रियांक खरगे ने कहा कि कौन है 'टुकड़े-टुकड़े गैंग?' बताइए, सभी जानना चाहते हैं। गृहमंत्री ने हाथ में कुछ पेपर का पुलिंदा दिखाते हुए कहा कि उनके पास सभी सूचनाएं हैं। आपलोग हैं टुकड़े-टुकड़े गैंग। आप (प्रियांक खरगे) हैं टुकड़े-टुकड़े गैंग के नेता। प्रियांक खरगे ने गृहमंत्री को गिरफ्तार करने और देशद्रोह का मामला दर्ज करने की चुनौती दी। इस बीच सदन में हंगामा शुरू हो गया। हंगामे के बीच कांग्रेस ने सदन से बहिगर्मन किया।

Rajeev Mishra Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned