पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा देने से पीछे नहीं हटेगी मोदी सरकार

Shankar Sharma

Publish: Oct, 09 2017 10:15:18 (IST)

Bangalore, Karnataka, India
पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा देने से पीछे नहीं हटेगी मोदी सरकार

मोदी सरकार कांग्रेस के विरोध के बावजूद राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग संवैधानिक दर्जा देने से पीछे नहीं हटेगी

बेंगलूरु. मोदी सरकार कांग्रेस के विरोध के बावजूद राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग संवैधानिक दर्जा देने से पीछे नहीं हटेगी।
शहर के पैलेस मैदान में विश्वकर्मा महासभा के तत्वावधान में आयोजित विश्वकर्मा जयंती समारोह को संबोधित करते हुए केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने यह बात कही। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के सदस्य राज्यसभा में आयोग को संवैधानिक दर्जा देने के लिए विधेयक का विरोध कर रहे हैं लेकिन सरकार आयोग को ेसंवैधानिक दर्जा देने के फैसले पर कायम है।


राजनाथ ने कहा कि पिछड़े वर्ग के लोगों को सामाजिक और आर्थिक न्याय देने के लिए के लिए केंद्र सरकार ने आयोग को संवैधानिक दर्जा देने का फैसला किया था। इससे संबंधित संविधान संशोधन विधेयक को लोकसभा अप्रेल में ही पारित कर चुकी है लेकिन राज्य सभा में कांग्रेस के विरोध के कारण अब तक यह विधेयक पारित नहीं हो सका है।


उन्होंने कहा कि संविधान की भावना के मुताबिक केंद्र सरकार जहां इस आयोग को शक्तिशाली बनाना चाह रही है वही कांग्रेस इसका राजनीतिक कारणों से विरोध कर रही है। लेकिन केंद्र सरकार विपक्ष के असहयोग के बावजूद पिछडों के विकास के लिए इस आयोग को संवैधानिक दर्जा देने के संकल्प को पूरा करेगी। राज्यसभा में कांग्रेस के कई संशोधन पेश करने के बाद विधेयक को संयुक्त प्रवर समिति को भेजने पर मजबूर होना पड़ा। राजनाथ ने कहा कि इस मामले में कांग्रेस की नीयत साफ नहीं है।


राजनाथ ने कहा कि आप लोग न्याय आप लोगों का हक है और आपको इसे मांगना नहीं पड़े इसलिए केंद्र सरकार ने अन्य पिछड़ा वर्ग की सूची में उप वर्गीकरण के लिए एक समिति का गठन किया है। राजनाथ ने कहा कि जब वे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री (२०००-०२) थे तब कांग्रेस, सपा और बसपा के विरोध के बावजूद आंतरिक आरक्षण की व्यवस्था लागू की थी। उन्होंने कहा कि कर्नाटक में अन्य पिछड़ा वर्ग को ३० फीसदी आरक्षण का प्रावधान है लेकिन बहुत कम लोगों को सरकारी योजनाओं और रोजगार में इसका लाभ मिल पा रहा है।


उन्होंने कहा कि विश्वकर्मा समुदाय के युवाओं को नवीनतम प्रशिक्षण से यह कुशल मानव संसाधन देश के लिए वरदान साबित हो सकता है। समारोह में आर्ट ऑफ लिविंग के संस्थापक श्रीश्री रविशंकर और कन्नड़ फिल्म अभिनेता रविचंद्रन को विश्वकर्मा पुरस्कार से सम्मानित किया। समारोह में प्रदेश भाजपा प्रभारी प्रकाश जावडेकर,केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष बी. एस. येड्डियूरप्पा, सांसद शोभा करंदजाले तथा प्रदेश भाजपा उपाध्यक्ष के.पी.नंजुंडी ने भी मौजूद थे।


विश्वकर्मा महासभा ने दिया ज्ञापन
विश्वकर्मा महासभा ने राजनाथ सिंह को समारोह में चार सूत्रीय ज्ञापन सौंपा। प्रदेश भाजपा उपाध्यक्ष नंजुंडी के मुताबिक ज्ञापन में राष्ट्रीय स्तर पर विश्वकर्मा समुदाय विकास निगम का गठन, 7 सितंबर को विश्वकर्मा जयंती का राष्ट्रीय अवकाश, विश्वकर्मा समुदाय के आभूषण निर्माताओं को पुलिस ज्यादतियों से छुटकारा तथा बेलूर स्थित चन्नकेशव मंदिर परिसर में मंदिर के शिल्पी जकणाचार्य की प्रतिमा स्थापित करने की मांग रखी है।

भारत दुनिया का ताकतवर देश, इसीलिए सुलझा डोकलाम विवाद
बाद में पत्रकारों से बातचीत में राजनाथ ने कहा कि मोदी सरकार के साहसी फैसलों के कारण पूरे विश्व में देश का सम्मान बढा है। चीन और भारत के बीच 78 दिन तक चला डोकलाम विवाद भारत की ताकत की वजह से हल हुआ। राजनाथ ने कहा कि भारत दुनिया का ताकतवर देश बन गया है, अगर भारत कमजोर होता तो डोकलाम विवाद कभी भी नहीं सुलझता। बीते कुछ समय में दुनिया में भारत की छवि में बदलाव हुआ है।

सीमा पार से आतंकवाद के बारे में पूछे जाने पर राजनाथ ने कहा कि पाकिस्तान अब भी आतंककारियों को भेजने की कोशिश कर रहा है लेकिन सुरक्षा बल उन्हें रोक रहे हैं। सुरक्षा बलों को पहले फायरिंग नहीं करने के लिए कहा गया है लेकिन सीमा पार से फायरिंग होने पर मुंहतोड़ जवाब देने के लिए कहा गया है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा पर किसी तरह का समझौता नहीं किया जाएगा।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned