ठेकेदारों को काली सूची में शामिल करने की मांग

लोक निर्माण विभाग में शर्तों का सरासर उल्लंघन

By: Sanjay Kulkarni

Updated: 05 Feb 2021, 06:30 AM IST

बेंगलूरु. विधान परिषद में प्रश्नकाल के दौरान कई सदस्यों ने लोक निर्माण विभाग में शर्तों का सरासर उल्लंघन कर रहे ठेकेदारों को काली सूची में शामिल करने की मांग की।प्रश्नकाल के दौरान कांग्रेस के अरविंद अरली के सवाल पर लोक निर्माण मंत्री गोविंद कारजोल ने कहा कि बीदर जिले में अनुसूचित जाति तथा जनजाति समुदाय की बस्तियों में बुनियादी ढांचे बनाने के लिए वर्ष 2019-20 में 2689 लाख रुपए का अनुदान जारी किया गया, इसमें से 1741 लाख रुपए खर्च किए गए। वर्ष 2020-21 में 1195.50 लाख रुपए का अनुदान आवंटित किया गया, जिसमें से 876.95 लाख रुपए खर्च किए गए हैं।

जिले में कुछ ठेकेदारों ने शर्तों का उल्लंघन कर उन्हें मिला ठेका किसी दूसरे ठेकेदार को सौंपा है। ऐसे मामलों की जांच की जा रही है। ठेकेदारों के खिलाफ नियमों के अनुसार कार्रवाई की जाएगी।नेता प्रतिपक्ष एस आर पाटिल, कांग्रेस के सीएम इब्राहिम, एम नारायणस्वामी जनता दल-एस के अप्पाजी गौड़ा ने ऐसे ठेकेदारों को काली सूची में शामिल करने की मांग रखी। इन सदस्यों का तर्क था कि ठेकेदार ठेका प्राप्त करने के पश्चात अपना 30-40 फीसदी कमीशन काटकर यह ठेका किसी दूसरे ठेकेदार को सौंप रहे हैं जिसका असर निर्माण कार्य की गुणवत्ता पर हो रहा है।

इस पर लोकनिर्माण मंत्री ने सदन को आश्वस्त किया कि अगर सदस्य उनके क्षेत्र में ऐसे मामले को लेकर शिकायत देंगे तो वे ऐसे मामलों की जांच कर दोषी ठेेकेदारों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए तैयार है।

तलकावेरी क्षेत्र में अवैध गतिविधियों पर रोक लगाने की मांग

बेंगलूरु. विधान परिषद में प्रश्नकाल केदौरान कांग्रेस की वीणा अच्चय्या ने कोडग़ु जिले में कावेरी नदी की उद्गम स्थली तलकावेरी के परिसर में पर्यटकों की अवैध गतिविधियों पर रोक लगाने की मांग की। भाजपा के सदस्य सुनिल सुब्रमणी ने इसका समर्थन किया।इससे पहले देवस्थान विभाग के मंत्री कोटा श्रीनिवास पुजारी ने कहा कि स्थानीय लोगों की धार्मिक भावनाओं का सम्मान करते हुए तलकावेरी क्षेत्र में पर्यटकों की जांच के लिए चैकपोस्ट स्थापित करने के संबंध में वे शीघ्र ही जिला प्रशासन को निर्देश देंगे।

वहां की अन्य समस्याओं के समाधान के लिए वे शीघ्र जिले के सभी जनप्रतिनिधियों के साथ बैठक करेंगे। तलकावेरी जैसे पवित्र क्षेत्र में अवैध गतिविधियों को रोकने के लिए हरसंभव प्रयास किए जाएंगे।इससे पहले वीणा अच्चय्या ने सदन को बताया की तलकावेरी क्षेत्र में कई पर्यटक केवल मौजमस्ती करने जा रहे हैं। कावेरीमाता मंदिर के इर्द गिर्द अक्सर पर्यटक शराब पीकर शोर-शराबा करते रहते हैं इस कारण स्थानीय लोगों की धार्मिक भावनाएं आहत हो रही हैं।

Sanjay Kulkarni Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned