ग्रामीण क्षेत्रों में कोविड के फॉल्स निगेटिव मामले बड़ी चुनौती

- स्वास्थ्यकर्मियों में भी जागरूकता की कमी
- मरीजों की निगरानी में हो रही है चूक : चिकित्सक

By: Nikhil Kumar

Published: 11 Jun 2021, 04:57 PM IST

बेंगलूरु. कोविड के फॉल्स निगेटिव मामले ग्रामीण क्षेत्रों में कार्यरत चिकित्सकों के लिए बड़ी चुनौती बने हुए हैं। लक्षण के बावजूद कई लोगों की आरटी-पीसीआर रिपोर्ट निगेटिव आ रही है। शहरों में फॉल्स निगेटिव मामलों को लेकर जागरूकता है। लेकिन, ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्यकर्मी भी इसे लेकर गंभीर नहीं है। फॉल्स निगेटिव मामलों की निगरानी में चूक हो रही है। लोग देर से अस्पताल पहुंच रहे हैं। कई मरीजों को अपनी जान तक गंवानी पड़ी है।

ग्रामीण क्षेत्रों में लंबे समय से कार्यरत चिकित्सकों का कहना है कि राष्ट्रीय स्तर पर जागरूकता अभियान की जरूरत है। पल्मोनोलॉजिस्ट डॉ. चेतन कुमार एन. जी. ने बताया कि बीते कुछ सप्ताह से वे राज्य के सर्वाधिक प्रभावित ग्रामीण क्षेत्रों का दौरा कर मरीजों का उपचार कर रहे हैं। इन क्षेत्रों में जमीनी स्तर पर काम कर रहे ज्यादातर स्वास्थ्य कार्यकर्ता फॉल्स निगेटिव मामलों को ठीक से समझ नहीं पा रहे हैं। मरीजों के स्वास्थ्य की उचित निगरानी नहीं हो पा रही है। कुछ क्षेत्रों में स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा इस्तेमाल किए जा रहे पल्स ऑक्सीमीटर की गुणवत्ता भी अच्छी नहीं है।

दावणगेरे जिले के चन्नगिरी तालुक का उदाहरण देते हुए डॉ. कुमार ने बताया कि कोविड से मरने वाले 14 में से 12 लोगों की आरटी-पीसीआर जांच रिपोर्ट निगेटिव थी। लक्षण होने के बावजूद उन्होंने लापरवाही बरती। मरीजों की निगरानी भी नहीं हुई।
पल्मोनोलॉजिस्ट डॉ. संदीप बी. एस. ने बताया कि लक्षण के बावजूद आरटी-पीसीआर रिपोर्ट निगेटिव हो तो भी ऐसे मामलों को पॉजिटिव मान कर लक्षण के आधार पर फौरन उपचार शुरू कर देना चाहिए। लेकिन, एक बार रिपोर्ट निगेटिव आ जाए तो लोगों को उपचार के लिए मनाना आसान काम नहीं है। ऐसे मरीजों की नब्ज दिन में दो बार जांचनी चाहिए। लेकिन, ग्रामीण क्षेत्रों में ऐसा नहीं हो पा रहा है।

उन्होंने बताया कि कोविड जांच को लेकर भी लोग जागरूक नहीं है। लक्षण सामने आने के दो से चार दिनों तक लोग चिकित्सक के पास नहीं पहुंचते हैं। इसके बाद भी अगले कुछ दिनों तक आरटी-पीसीआर जांच का इंतजार करते हैं। तब तक मामला और बिगड़ जाता है।

Show More
Nikhil Kumar Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned