कर्नाटक : सभी पात्र लोगों को वर्षांत तक कोरोना टीका लगाने का लक्ष्य : स्वास्थ्य मंत्री

  • राज्य में दो टीकों के उत्पादन ने देश में किसी भी अन्य राज्य से पहले टीकाकरण के लक्ष्य को प्राप्त करने की आशा जगाई है

By: Nikhil Kumar

Updated: 20 May 2021, 11:31 AM IST

बेंगलूरु. स्वास्थ्य व चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ. के. सुधाकर ने बुधवार को कहा कि कर्नाटक में सभी पात्र लोगों को 2021 के अंत तक कोरोना टीका लगाने का लक्ष्य है। कोशिश रहेगी की अक्टूबर-नवंबर तक सभी को कम-से-कम एक खुराक मिल सके।

उन्होंने कहा कि कोवैक्सीन बनाने वाली कंपनी भारत बॉयोटेक (Bharat Biotech) कोलार के मालूर में टीका उत्पादन इकाई स्थापित कर रही है। अगस्त के अंत से प्रतिमाह टीके की चार से पांच करोड़ खुराक बनेगी।

राज्य में रूसी कोरोना वैक्सीन स्पुतनिक के उत्पादन की भी उम्मीद है। दोनों वैक्सीन (covaxin) के उत्पादन से उम्मीद जागी है। राज्य में दो टीकों के उत्पादन ने देश में किसी भी अन्य राज्य से पहले टीकाकरण के लक्ष्य को प्राप्त करने की आशा जगाई है।

कोविशील्ड (covishield) पर डॉ. सुधाकर ने कहा कि राज्य ने सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (serum institute of India) को दो करोड़ खुराक के लिए ऑर्डर दिया है। इसमें से दो लाख खुराक की आपूर्ति मंगलवार को हुई। खुराक उन लोगों को दी जाएगी जो 45 वर्ष से ऊपर हैं और दूसरी खुराक के इंतजार में हैं।
उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार से राज्य को 1.11 करोड़ डोज मिले हैं। राज्य सरकार ने सीधे कंपनी से कोविशील्ड की 9.5 लाख व कौवैक्सीन की 1.44 लाख डोज खरीदी है। राज्य में अब तक 1,13,61,234 लोगों का टीकाकरण हुआ है।

डॉ. सुधाकर ने कहा कि मंगलवार को राज्य में 58,395 लोगों ने एक साथ कोरोना वायरस को मात दी। अब तक 16.74 संक्रमित स्वस्थ हुए हैं। अब संक्रमण और मृत्यु दर कम करने पर ज्यादा ध्यान देने की आवश्यकता है। लॉकडाउन व लोगों द्वारा कोविड से दूरी पाबंदियों के पालन से राज्य में कोविड के नए मामले घटने शुरू हो चुके हैं।

ब्लैक फंगस के बढ़ते मामलों पर उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने लीपोजोमल एम्फोटेरिसिन-बी इंजेक्शन (Amphotericin B liposomal) की 1050 वायल भेजी है। अगले सप्ताह अतिरिक्त वायल मिलने की उम्मीद है।

Show More
Nikhil Kumar Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned