तमिलनाडु से आने वालों को निगेटिव रिपोर्ट लाना अनिवार्य

तमिलनाडु से बेंगलूरु लौटने के लिए निगेटिव रिपोर्ट लाना अनिवार्य है। अगर रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई तो उन्हें वापस भेज दिया जाएगा। पालिका, पुलिस, आबकारी और जिला प्रशासन कोविड जांच कराएगा। इसमें यात्रियों को सहयोग करना होगा।

By: MAGAN DARMOLA

Published: 05 Apr 2021, 10:12 PM IST

बेंगलूरु. कोरोना का संक्रमण बढऩे के कारण मंगलवार से कुछ नियम और सख्त किए जा रहे हैं। तमिलनाडु से बेंगलूरु आने वालों को निगेटिव रिपोर्ट लाना अनिवार्य कर दिया गया है। बेंगलूरु शहरी जिले के जिलाधिकारी मंजुनाथ ने कहा कि तेजी से फैल रहे संक्रमण को देखते हुए सरकार और बृहद बेंगलूरु महानगर पालिका (बीबीएमपी) ने कई इंतजाम किए हैं।

मंगलवार को तमिलनाडु विधानसभा चुनाव के लिए मतदान करने शहर से बड़ी संख्या में लोग गए हैं। अब उन्हें बेंगलूरु लौटने के लिए निगेटिव रिपोर्ट लाना अनिवार्य है। अगर रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई तो उन्हें वापस भेज दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि पालिका, पुलिस, आबकारी और जिला प्रशासन कोविड जांच कराएगा। इसमें यात्रियों को सहयोग करना होगा। आनेकल तहसील में 236 मामले सामने आए हैं। अत्तिबेेले में चेक पोस्ट पर वाहनों की जांच की जा रही ही है।

रमेश जारकीहोली कोरोना संक्रमित

पूर्व मंत्री रमेश जारकीहोली कोरोना से संक्रमित होने के कारण सोमवार को विशेष जांच दज (एसआईटी) के सामने पूछताछ के लिए पेश नहीं हुए। जारकीहली को दो दिन पहले तेज बुुखार आया था। उन्हेंं बेलगावी जिले के गोकाक में सरकारी अस्पताल के आईसीयू में रखा गया है। तहसील सर्जन डॉ.रवीन्द्र आन्टिन ने बताया कि पहले जारकीहोली को होम क्वारंटाइन में रहने का सुझाव दिया गया था लेकिन सांस लेने में तकलीफ होने पर रविवार रात उन्हें अस्पताल लाया गया। जारकीहोली के कार चालक, घरेलू नौकर और अंगरक्षक भी संक्रमित पाए गए हैं।

MAGAN DARMOLA
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned