बलात्‍कार और हत्या के आरोपी को मृत्युदंड

बलात्‍कार और हत्या के आरोपी को मृत्युदंड

Sanjay Kumar Kareer | Updated: 20 Feb 2018, 09:33:16 PM (IST) Bangalore, Karnataka, India

गर्भवती महिला से बलात्कार और हत्या का मामला

उडुपी. कुंदापुर के तीसरे अतिरिक्त जिला सत्र न्यायालय ने एक गर्भवती महिला से दुष्कर्म कर उसकी हत्या करने के आरोपी को मृत्युदंड दिया है।

न्यायाधीश प्रकाश खंडेरी ने १४ फरवरी को आरोपी प्रशांत मोगावीरा को दोषी करार दिया था और मंगलवार को सजा सुनाने की घोषणा की थी। न्यायाधीश प्रकाश खंडेरी ने दुष्कर्म के लिए १० साल, महिला के आभूषण चोरी करने पर १० साल और अपहरण करने का प्रयास करने पर चार साल, मकान में अवैैध रूप से घुसने पर एक साल तथा पेट में भ्रूण की हत्या करने पर फांसी की सजा सुनाई है।

आरोप पत्र के अनुसार कोटेश्वर के करीब गोपाजी गांव निवासी इंदिरा (२६) सात माह की गर्भवती थी। ११ अप्रेल २०१५ को आरोपी प्रशांत मोगावीराो इंदिरा के घर गया और पानी मांगा। इंदिरा ने पानी लाने रसोई घर के अंदर गई तो आरोपी भी जबरन अंदर घुस गया। उसने इंदिरा से दुष्कर्म कर उसके आभूषण छीन लिए। इसके बाद उसने इंदिरा का सिर पत्थर से कुचल कर उसकी बेहद नृशंस तरीके से हत्या कर दी थी।

इस सिलसिले में कुंदापुर ग्रामीण पुलिस थाने में मामला दर्ज किया गया। आरोपी को गिरफ्तार करने के बाद विभिन्न संगठनों ने आरोपी को फांसी की सजा देने की मांग को लेकर धरने और विरोध प्रदर्शन किए थे। सरकारी वकील रवि किरण ने मुकदमे की पैरवी की थी।

पुलिस लाठी चार्ज में युवक की मौत का आरोप

- पुलिस निरीक्षक निलंबित

बेंगलूरु. पुलिस लाठी चार्ज में एक युवक की मौत के मामले में चिकबल्लापुर टाउन थाान निरीक्षक शिवस्वामी को गृह मंत्री रामलिंगा रेड्डी के निर्देश पर निलंबित कर दिया गया।

बताया जाता है कि रविवार रात चिकबल्लापुर विधानसभा क्षेत्र से टिकट देने के सिलसिले में क्षेत्र के नेताओं और कार्यकर्ताओं की बैठक एक समुदाय भवन में हुई, जिसमें बेंगलूरु से तीन पर्यवेक्षक भेजे गए थे। कांग्रेस के तीन गुटों के कार्यकर्ताओं ने अपने-अपने नेताओं के समर्थन में अलग-अलग आवेदन देने का फैसला किया था।

नवीन किरण नामक एक नेता के समर्थकों ने जुलूस निकाला, जिससे अन्य दो गुटों के कार्यकर्ता नाराज हो गए। उन्होंने नवीन किरण और उसके समर्थकों को अंदर नहीं जाने दिया। तीनों गुटों में नोक-झोंक हुई और एक दूसरे पर हमला तथा पथराव करने से तनाव उत्पन्न हो गया।
पुलिस को हालात पर नियंत्रण करने के लिए लाठी चार्ज करना पड़ा। इसी दौरान हुई भगदड़ में एक युवक विनय (२९) की मौत हो गई। कार्यकर्ताओं का आरोप है कि विनय की मौत पुलिस लाठी चार्ज में हुई और उन्होंने थाने का घेराव कर दिया।

मामले की सूचना मिलने पर गृहमंत्री रामलिंगा रेड्डी ने चिकबल्लापुर जाकर कार्यकर्ताओं से बातचीत की और मामले को निपटाया। थाने के निरीक्षक शिवस्वामी को सेवा निलंबित कर दिया गया है। विनय के शव को पोस्ट मार्टम के लिए बेंगलूरु की विक्टोरिया अस्पताल भेेजा गया। पोस्ट मार्टम रिपोर्ट मिलने पर पता चलेगा कि विनय की मौत किस तरह हुई थी।

जिला पुलिस अधीक्षक कार्तिक रेड्डी ने विनय की मौत को संदिग्ध बताया है। थाने में अभी तक कोई मामला दर्ज नहीं हुआ है। उधर, नवीन किरण पर आरोप लगाया है कि उसने दबाव के कारण रिपोर्ट दर्ज कराने से इनकार किया है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned