बेंगलूरु विवि में अब नंजुंडस्वामी की मूर्ति स्थापित करने की मांग

बेंगलूरु विवि में अब नंजुंडस्वामी की मूर्ति स्थापित करने की मांग

Rajendra Shekhar Vyas | Publish: May, 17 2019 08:23:33 PM (IST) Bangalore, Bangalore, Karnataka, India

किसानों के समूह कर्नाटक राज्य रैयत संघ प्रो. वेणुगोपाल को ज्ञापन

बेंगलूरु. बेंगलूरु विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. केआर वेणुगोपाल के पास बीयू प्रशासनिक ब्लॉक के प्रवेश द्वार के बाहर आठवीं मूर्ति स्थापित करने की मांग पहुंची है। किसानों के समूह कर्नाटक राज्य रैयत संघ ने सरस्वती और गौतम बुद्ध के साथ ग्रामीण कार्यकर्ता एमडी नंजुंडस्वामी की मूर्ति भी स्थापित करने की मांग की है।
संघ के प्रतिनिधियों ने प्रो. वेणुगोपाल को इस संबंध में एक ज्ञापन सौंपा है। ज्ञापन के अनुसार नंजुंडस्वामी की मूर्ति से विद्यार्थी प्रेरित होंगे। कृषि और किसानों को समझ सकेंगे। प्रो. वेणुगोपाल ने बताया कि इस मामले को भी वे विश्वविद्यालय के सिंडिकेट के समक्ष रखेंगे। अकेले निर्णय लेने का उन्हें अधिकार नहीं है। गत सोमवार को विद्यार्थियों और प्रोफेसरों के एक समूह द्वारा सरस्वती की जगह गौतम बुद्ध की मूर्ति स्थापित करने के बाद विवाद खड़ा हो गया था। बीयू ने दोनों की मूर्ति को एक ही जगह स्थापित करने का निर्णय लिया। जिसके बाद अल्पसंख्यक मंच, पिछड़ा वर्ग और सामान्य वर्ग कर्मचारी संघ ने सरस्वती और बुद्ध के साथ कनकदास, बसवेश्वर, केंपेगौड़ा, शिशुनाला शरीफ और महात्मा गांधी की भी मूर्ति स्थापित करने की मांग की है। सभी मूर्तियों को स्थापित करने की इजाजत मिलती है तो प्रशासनिक ब्लॉक के प्रवेश द्वार के बाहर कुल आठ मूर्तियां होंगी।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned