ईश्वरचंद्र विद्यासागर की प्रतिमा तोडऩे के विरोध में प्रदर्शन

ईश्वरचंद्र विद्यासागर की प्रतिमा तोडऩे के विरोध में प्रदर्शन

Shankar Sharma | Updated: 19 May 2019, 12:49:57 AM (IST) Bangalore, Bangalore, Karnataka, India

भाजपा की समाज विरोधी नीति के विरोध में अखिल भारतीय महिला सांस्कृतिक संगठन (एआईएमएसएस) की ओर से प्रदर्शन किया गया।

धारवाड़. भाजपा की समाज विरोधी नीति के विरोध में अखिल भारतीय महिला सांस्कृतिक संगठन (एआईएमएसएस) की ओर से प्रदर्शन किया गया। संगठन ने आरोप लगाया कि कोलकाता में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो के दौरान भाजपा तथा टीएमसी कार्यकर्ताओं के बीच झड़प के दौरान भाजपा कार्यकर्ताओं ने ईश्वरचंद्र विद्यासागर की प्रतिमा को तोड़ दिया। भाजपा कार्यकर्ताओं के इस कृत्य के विरोध में एआईएएमएस के सदस्यों ने शहर के विवेकानंद चौराहे पर प्रदर्शन किया।


इस अवसर पर एआईएमएसएस की जिलाध्यक्ष मधुलता गौडर ने कहा कि ईश्वरचंद्र विद्यासागर ही वह समाज सुधारक थे जिन्होंने सभी को विशेषकर बेटियों की शिक्षा के लिए लड़ाई लड़ी। उन्होंने बाल विवाह तथा बहु विवाह जैसी सामाजिक कुप्रथा के खिलाफ आवाज बुलंद की। मधुलता गौडर ने कहा कि ईश्वरचंद्र के सिद्धांतों को भाजपा/आरएसएस नहीं मानती। भाजपा/आरएसएस की तोडऩे वाली मानसिकता के कारण ही आज प्रतिमा को ढहाया गया है।

मधुलता गौडर ने ईश्वरचंद्र की प्रतिमा को तोडऩे वालों के खिलाफ ठोस कदम उठाने की मांग की। इस मौके पर एआईडीएसओ के जिला संगठक रणजीत धूपद ने कहा कि यह पहली बार नहीं है, जब किसी महापुरुष की प्रतिमा को भाजपा/आरएसएस ने तोड़ा हो। इससे पहले परियार, अंबेडकर, लेनिन एवं टैगोर की प्रतिमाओं को भी इन्हीं लोगों ने ढहाया था। भारत को विश्व का सबसे बड़ी लोकतांकिक देश कहने वाले भाजपा के नेता अपनी पार्टी के अलावा अन्य व्यक्तियों के सिद्धांतों को नहीं मानते।


उन्होंने कहा कि विद्यासागर की हजारों प्रतिमाओं को ढहाया जा सकता है, परंतु वे एक प्रतिमा तक सीमित नहीं हैं। विद्यासागर के विचार इस देश के लोगों के दिलों में काफी गहराई तक पहुंचे हुए हैं। उन्होंने कहा कि ईश्वरचंद्र विद्यासागर की प्रतिमा तोडऩे वालों को शीघ्र गिरफ्तार कर कड़ी सजा दी जाए। विरोध प्रदर्शन में दोनों संगठन के नेता विजयलक्ष्मी देवत्कल, गंगा कोकरे, निंगम्मा हुडेद सहित कई उपस्थित थे।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned