यत्नाल के विवादास्पद बयान के समर्थन में उतरे लक्ष्मण सवदी

स्वतंत्रता सेनानी एचएस दौरेस्वामी को लेकर भाजपा नेता बसवराज पाटिल यत्नाल की कथित आपत्तिजनक टिप्पणी पर उपमुख्यमंत्री लक्ष्मण सवदी ने यत्नाल का परोक्ष समर्थन करते हुए कहा कि उनका बयान संविधान विरोधी नहीं है। लिहाजा इस बयान को लेकर विधानमंडल के सोमवार से शुरु हो रहे सत्र की कार्यवाही चलने नहीं देने की विपक्ष कांग्रेस तथा जद-एस की चेतावनी तार्किक नहीं है।

By: Sanjay Kulkarni

Published: 01 Mar 2020, 09:14 PM IST

बेंगलूरु.उपमुख्यमंत्री लक्ष्मण सवदी ने यत्नाल का परोक्ष समर्थन करते हुए कहा कि उनका बयान संविधान विरोधी नहीं है। लिहाजा इस बयान को लेकर विधानमंडल के सोमवार से शुरु हो रहे सत्र की कार्यवाही चलने नहीं देने की विपक्ष कांग्रेस तथा जद-एस की चेतावनी तार्किक नहीं है।

उन्होंने कहा कि विपक्ष के पास कोई दूसरा मुद्दा नहीं होने के कारण वे यत्नाल के बयान को लेकर उन्माद फैला रहे हैं। उन्होंने कहा कि हमेशा अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की वकालत करने वाले विपक्ष को दूसरों के विचारों का भी सम्मान करना होगा। वैचारिक संघर्ष लोकतंत्र का अभिन्न हिस्सा है। वामपंथी नेताओं की तरह बसवराज पाटिल को भी अपने व्यक्तिगत विचार रखने का अधिकार है। क्या अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर कांग्रेस तथा वामपंथियों का एकाधिकार है?
प्रहलाद जोशी का मिला समर्थन
उधर केंद्रीय मंत्री प्रहलाद जोशी ने बल्लारी जिले के तोरणगल में रविवार को पत्रकारों के साथ बातचीत के दौरान बसवराज पाटिल यत्नाल के बयान का समर्थन किया। उन्होंने कहा, इससे पहले स्वतंत्रता सेनानी एचएस दौरेस्वामी ने विनायक दामोदर सावरकर तथा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ अपमान जनक बयान दिया था। जब दौरेस्वामी ने दोनों को हत्यारा करार दिया था तब कांग्रेस के कितने नेताओं ने दौरेस्वामी के बयान का विरोध किया?

Sanjay Kulkarni Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned