32 आगमों के महत्व बताए

32 आगमों के महत्व बताए

Rajendra Shekhar Vyas | Publish: Sep, 10 2018 09:24:43 PM (IST) Bengaluru, Karnataka, India

जैन श्रावक संघ सिटी शाखा चिकपेट में साध्वी अरुणा के प्रवचन

बेंगलूरु. वर्धमान स्थानकवासी जैन श्रावक संघ सिटी शाखा चिकपेट में साध्वी अरुणाबाई आदि ठाणा 3 ने तीर्थंकरों की देशना और आगम रूप के 32 आगमों के महत्व बताए। उन्होंने आगम आराधना एवं पूजन करवाया। बहू मंडल ने बालक-बालिकाओं को सिखाने का संकल्प लिया। कर्नाटक कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष सुरेशचंद छल्लाणी, ट्रस्ट अध्यक्ष पारसमल बागरेचा, संघ मंत्री शांतिलाल गोटावत व अन्य गणमान्य उपस्थित थे। संचालन चेतनप्रकाश डूंगरवाल ने किया।
समता है आनंद के खजाने की चाबी
बेंगलूरु. साध्वी मधुस्मिता ने कहा कि महावीर वाणी का सार समता है। जैन आचार का सर्वोपरि तत्त्व समता है। साधना रूप महल में प्रविष्ट होकर आनंद का खजाना प्राप्त करने की चाबी समता है। तपस्या, सेवाश्रम और स्वावलंबिता से मिलने वाली सफलता समता का संवेग पाकर शत गुणित हो जाती है।
उन्होंने कहा कि समता वह असंदीन दीप है जो इंसान की हर खतरे से सुरक्षा करता है। सैकड़ों श्रावक-श्राविकाओं को एक साथ अभिनव सामायिक का प्रयोग करवाया गया। साध्वी सहजयशा ने त्रिपदी वंदना करवाई। साध्वी भावयशा ने ध्यान का प्रयोग कराया। साध्वी मलिप्रभा ने स्वाध्याय कराया।
साध्वी स्वस्थप्रभा ने परमेष्ठी वंदना का संगान कराया। युवक परिषद ने गीत पेश किया। स्वागत तेयुप अध्यक्ष दिनेश मरोठी ने किया। संचालन मंत्री महावीर टेबा किया। अभातेयुप अध्यक्ष विमल कटारिया ने श्रावक निष्ठा पत्र का वाचन किया। सभाध्यक्ष बंशीलाल पितलिया ने मंगलकामना की।
सामान्य ज्ञान परीक्षा
बेंगलूरु. जेसीआई बेंगलूरु गार्डन सिटी की ओर से शनिवार को महिला सेवा समाज एवं सेंट जोसेफ चामराजपेट में एनएलटीएस की सामान्य ज्ञान परीक्षा आयोजित की गई। इसमें 500 से अधिक बच्चों ने भाग लिया। उपाध्यक्ष पिंकी चौहान, प्रोजेक्ट संयोजक विनीता बोहरा, निदेशक वर्षा मेहता आदि ने छात्रों को प्रोत्साहित किया।
बाढ़ प्रभावित 300 परिवारों को आवश्यक सामग्री वितरित
बेंगलूरु. मेवाड़ जैन सेवा संस्था की ओर से रविवार को कोडुगू में बाढ़ प्रभावितों को आवश्यक सामग्री वितरित की। इसके लिए संसिा की 20 सदस्यीय टीम ने दौश्रा किया और बाढ़ प्रभावित 300 परिवारों को आवश्यक समग्री वितरित की।

Ad Block is Banned