मंदिर की संपत्ति की रक्षा के लिए उच्चाधिकार समिति का गठन

बेंगलूरु शहर का धर्मरायस्वामी मंदिर

बेंगलूरु. शहर में स्थित धर्मरायस्वामी मंदिर की संपत्ति की रक्षा करने के लिए शीघ्र ही एक वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों की उच्चाधिकार समिति का गठन किया जाएगा। देवस्थानम विभाग के मंत्री राजशेखर पाटिल ने यह जानकारी दी।
विधान परिषद में प्रश्नकाल के दौरान सदस्य सी.आर. रमेश के सवाल पर मंत्री ने कहा कि जिन लोगों ने इस मंदिर की भूमि पर अतिक्रमण किया है, उनके लोगों के खिलाफ मुकदमा दायर करने के साथ इस भूमि को अतिक्रमण से मुक्त किया जाएगा। इसी तर्ज पर राज्य के अन्य जिलों में स्थित देवस्थानम विभाग के मंदिरों की भूमी की रक्षा के लिएएक कार्यबल का गठन किया जाएगा। सरकारी भूमि पर अतिक्रमण को लेकर विधायक ए.टी. रामस्वामी की रिपोर्ट के आधार पर शहर के कई मंदिरों की भूमि से अतिक्रमण हटाया गया है।
धर्मरायस्वामी मंदिर के परिसर में सुरक्षा दीवार के निर्माण के लिए 80 लाख रुपए का अनुदान आवंटित किया गया है। इस अनुदान में से पहले चरण में केआरडीएल के लिए 26 लाख रुपए का अनुदान जारी किया गया है। अगर आने वाले 15 दिनों में केआरडीएल की ओर से इस दीवार का निर्माण कार्य शुरू नहीं किया जाता है तो यह कार्य लोक निर्माण विभाग को सौंपा जाएगा।

Rajendra Vyas Editorial Incharge
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned