इच्छाओं पर कन्ट्रोल करना कठिन-साध्वी मणिप्रभा

धर्मसभा का आयोजन

By: Yogesh Sharma

Updated: 04 Oct 2021, 07:41 AM IST

बेंगलूरु. मासखमण की तपस्या कठिन है। सभी सुख ओर अनुकूलताएं होते हुए देवता भी यह तप नहीं कर सकते हैं। आज के परिदृश्य में इच्छाओं पर कन्ट्रोल करना कठिन सा है। पंचमकाल में तपस्या करना बहुत दुष्कर है वर्तमान में छोटी-छोटी तपस्या भी बड़ी लगती है। तपस्वियों की अनुमोदना करने वालों की कर्म निर्जरा होती है और तीर्थंकर गोत्र का बंध होता है। तपस्या करने वाले धन्य है कि उन्होंने कर्मों की निर्जरा ओर अपनी आत्मा को निर्मल बनाने के लिए ३० उपवास (मासखमण) की आराधना की। शहर के गंगानगर स्थित स्थानक में विराजित उप प्रवर्तिनी प्रवचन प्रभाविका मणिप्रभा ने तपस्वी बहन वंदना-राजेश सोनी की ३० उपवास की पूर्णता के अवसर पर अभिनंदन समारोह में धर्मसभा में कही। साध्वी भगवंतों ने अपने उद्बोधन में विभिन्न मासखमण के स्वरूप बताए। उन्होंने तपस्वी बहन के पीहर पक्ष नंदावत परिवार एवं ससुराल पक्ष सोनी परिवार को साधुवाद देते हुए वंदना सोनी के मासखमण तपश्चर्या की विशेष अनुमोदना करते हुए तप की महत्ता पर विशेष प्रकाश डाला। २७ से ३१ दिन तक निराहार रहकर सभी खाद्य पदार्थो व अन्न का त्याग एवं मात्र गर्म जल पर रहकर तपस्या करना मासखमण कहलाता है। धर्मसभा में संघ द्वारा युवाचार्य महेन्द्रऋषि की ५५वीं जयंति भी बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाई। मणिप्रभा ने महेन्द्रऋषि का जीवन वृतांत बताते हुए उनके द्वारा की गई जिनशासन की प्रभावना पर विस्तृत बखान किया। इस अवसर पर नंदावत एवं पामेचा परिवार के नन्हें-नन्हें बच्चों ने तपस्वी बहन वंदना के अनुमोदनार्थ एक नाट्य की विशेष प्रस्तुति देकर उपस्थित जनमेदनी का मन मोहा। प्रात: शुभ वेला में तपस्वी बहन वंदना सोनी के तप अनुमोदनार्थ मासखमण तप का वरघोड़ा प्रेमबाई-स्व.करणसिंह नंदावत के गृह आंगन से प्रारंभ हुआ जो विभिन्न मार्गों से होते हुए गंगानगर स्थित नूतन स्थानक पहुंचा। इस अवसर पर तपस्वी बहन के एक माह तक निराहार रहकर मासखमण तप के उपलक्ष्य में गंगानगर-आर.टी.नगर संघ की तरफ से उन्हें ‘तपोभिनन्दन प्रशस्ति पत्र’ से सम्मानित किया। इस दौरान हेब्बाल क्षेत्र के विधायक बी.एस. सुरेश, पूर्व पार्षद एम. नागराज व संघ के चेयरमैन अमरचंद गुन्देचा, अध्यक्ष जसवन्तकुमार गन्ना, उपाध्यक्ष अनिलकुमार गन्ना, मंत्री रूपचन्द लोढ़ा, पूर्व मंत्री सुनीलकुमार नंदावत, समता युवा संघ के पूर्व महामंत्री कुलदीप नंदावत,जैन युवा संगठन के पूर्व अध्यक्ष विनोद नंदावत, संजयनगर संघ के माणकचन्द गन्ना, रमेश नंदावत, कोमल गांधी, साधुमार्गी संघ से किशोर कर्नावट उपस्थित थे। संचालन सहमंत्री रितेश पामेचा ने किया।

Yogesh Sharma Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned